Latest News

पर्वों के पूर्व बाजार में बढ़ी चहल-पहल

खरीददारी को उमड़ रहे लोग

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । दो दिनों से गलनभरी ठंड से दिन में धूप निकलने से राहत तो मिलती है लेकिन शाम होते ही पछुआ हवाओं के चलने से गलन बढ़ जाती है। ऐसे में बाजारों में चहल-पहल सवेरे से शुरू होने से रौनक का माहौल है। तेलैया, शकठ व मकर संक्रांति तथा माघ मेला के चलते जनपद में श्रद्धालुओं का तांता लगा है। खरीददारों की भीड बाजार में ेदेखने को मिल रही है। तिल, गुड़, मूग, उडद, रामदाना, सिंघाड़ा, गन्ना आदि बेचने वालों की पौबारह है। गत वर्षों की अपेक्षा इस वर्ष हर सामग्री अधिक दामों में बिका। शकरकंद के भाव

आसमान पर है। बावजूद इसके त्योहार की रस्मे पूरी करने को लोग खरीददारी में जुटे हैं। सामग्री बिक्रेता दूरदराज क्षेत्रों से निजी साधनों से विभिन्न सामग्री जनपद मुख्यालय लाकर विभिन्न कस्बों तक लोगों को थोक के भाव बेंचकर पुनः बाजार में रख्ेाने का कार्य तेजी से कर रहे हैं। रविवार को तेलैया का त्योहार होने के चलते लोग सरसो के तेल, मूंग, उडद की दाल खरीद कर घर ले गए हैं। शाम को इन्ही सामग्रियों से पकवान बनाकर त्योहार का लुत्फ उठाएगें। इसी क्रम में शकठ और मकर संक्रांति के पूर्व घरों में तिल, खिचड़ी, गुड दान कर पुण्य लाभ अर्जित करने की परम्परा है। इस दिन दान स्नान का विशेष महत्व होता है। विभिन्न धार्मिक स्थानों, पवित्र नदियों व कूपों में स्नान के बाद दान देने की आस्था है। 

No comments