Latest News

आठ सौ ग्राम की लक्ष्मी को एसएनसीयू ने दी नयी जिंदगी

27 दिन में  बच्ची का वजन बढ़ा 250 ग्राम

हमीरपुर, महेश अवस्थी । नये साल मे एक परिवार मे आठ सौ ग्राम की लक्ष्मी का जन्म हुआ हालत नाजुक होने पर 27 दिन तक एसएनसीयू मे रखा गया। स्वस्थ्य होने पर उसे डिस्चार्ज कर दिया। इंगोहटा निवासी प्रद्युम्न सिंह की पत्नी प्रियंका ने एक जनवरी को इस बच्ची को जन्म दिया था। दम्पत्ति की यह पहली संतान थी। खराब मौसम
बच्ची के साथ डा. और उसकी मां
के बाद भी उसका निरंतर उपचार चला। एसएनसीयू प्रभारी डा. सुमित ने बताया कि बच्ची का जन्म सात माह के अन्दर हुआ था। जिसकी वजह से उसका वजन कम था। रात दिन टीम ने बच्ची की निगरानी की। जब उसे डिस्चार्ज किया गया तब उसका वजन एक किलो पचास ग्राम था। 27 दिनों मे 250 ग्राम की बढोेत्तरी हुयी। बच्ची अब खतरे से बाहर है। आम तौर पर देखभाल मे ढिलाई होने या जुडवा बच्चो की वजह से पूर्व बच्चे जन्म ले लेते है, जिन्हे बचाना कठिन कार्य है। जिला महिला अस्पताल मे 12 बेड का एसएनसीयू वार्ड है। जिसमें एक डाक्टर आठ नर्सो की पोस्टिंग है। 12 वार्मर मशीन, 6 फोटो थेरेपी की मशीने है। कमजोर बच्चो का यहा उपचार किया जाता है। पीलियां जैसे बच्चो का भी फोटेथेरेपी से इलाज किया जाता है। 

No comments