Latest News

घर-घर जाकर खोजे जायेंगे गैर संचारी रोगों के मरीज

एक महीने के अभियान में 23305 लोगों की होगी स्क्रिीनिंग

हमीरपुर, महेश अवस्थी । गैर संचारी रोगों की रोकथाम के लिये 16 जनवरी से विशेष अभियान शुरू हो रहा है जो एक माह तक चलेगा, इसमें 30 की उम्र पार कर चुके महिला, पुरूषों में पांच तरह के गैर संचारी रोगों की स्क्रिीनिंग की जायेगी, ताकि उनका उपचार किया जा सके। इस बारे में टीबी सभागार में सीएचओ को टेªनिंग दी गई। उन्हें बताया गया कि गैर संचारी रोग एक तरह से धीमा जहर हैं। शरीर में इन रोगों की मौजूदगी कई बार तब पता चलती है जब काफी देर हो चुकी होती है। इन रोगों के साथ मरीज पूरी तरह स्वस्थ्य दिखता है वह अंदर से खोखला होता है। कई मौके ऐसे आते हैं कि चलता-फिरता मरीज मौत के मुंह में चला जाता है। स्वास्थ्य विभाग
इन बीमारियों के लिये काफी सजग है और जागरूक करने के लिये अभियान चला रहा है। नोडल अधिकारी डाॅ महेशचन्द्रा ने बताया कि जिले में 26 उपकेन्द्र, 06 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र और एक नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के तहत 3.60 लाख की आबादी को कबर किया जाता है। 30 साल के ऊपर वाली महिलाओं और पुरूषों की संख्या 1.13 लाख है। अभियान के दौरान आशा कार्यकर्ता के जरिये 56610 लोगों को सीबैक फार्म भरवाये जायेंगे। 23305 लोगों की स्क्रिीनिंग की जायेगी। शहरी क्षेत्रों में 400, ग्रामीण क्षेत्रों में 200 फार्म भरवाने का लक्ष्य है। इस दौरान जो भी गैर संचारी रोगों के मरीज मिलेंगे उनका उपचार होगा, जो रिफर करने वाले होंगे, उन्हें रिफर किया जायेगा। इस अभियान की हर सप्ताह जिलाधिकारी माॅनिटरिंग करेंगे। अभियान 15 फरवरी तक चलना है। सीएमओ डाॅ आरके सचान ने बीमारियों की स्क्रिीनिंग के बारे में विस्तार से जानकारी दी और कहा कि जरूरत पड़े तो सीएचओ अपने क्षेत्र में भ्रमण कर मरीजों तक पहुंचे। ताकि ऐसे मरीजों को समय से उपचार मिल सके। गैर संचारी रोगों में पांच प्रमुख बीमारियों को रखा गया है। जिसमें डायबिटीज, हाईपर टेंशन, तीन प्रकार का कैंसर, सरवाईकल स्तर और ओरल है। इनका खतरा 30 की उम्र पार करने वालों के लिये बढ़ जाता है। 

No comments