Latest News

शीतलहर के प्रकोप के आगे धूप भी रही बेअसर

बारिश व ओलावृष्टि ने ठंडक ने किया इजाफा

फतेहपुर, शमशाद खान । बारिश व ओलावृष्टि के बाद शनिवार को सुबह से ही घने कोहरे के साथ बदली छाई रही। हालांकि दोपहर होते-होते सूरज ने बादलों के बीच से अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हुए ठंड से ठिठुरते हुए लोगो को राहत पहुंचाने की पहल तो की लेकिन बर्फीली हवाओ के बीच धूप सेंकने वालो के लिये धूप बेअसर रही। शीत लहर ने धूप को बेअसर कर लोंगो को कमरो के अंदर पुनः छिपने को मजबूर कर दिया। 
पिछले लगभग एक माह से पहाड़ी इलाको में रुक-रुक कर हो रही बर्फबारी व हाल के दिनों में प्रदेश के कई
ठण्ड से बचने के लिए अलाव तापते लोग।
जनपदों में हुई बारिश व ओलेवृष्टि होने से ठंड का सितम जारी है। जिससे कड़ाके की पड़ने वाली सर्दी से आम जनमानस बेहाल हो रहा है। छोटे बच्चों के स्कूल बंद होने से उन्हें भले ही राहत मिली हुई है जबकि कक्षा 9 से लेकर ऊपर तक की कक्षाओं के विद्यालय जाने वाले बच्चो व रोजमर्रा के घरेलू कामकाज एवं रोजगार के सिलसिले की वजह से निकलने वाले लोग ठंड से ठिठुरने को मजबूर है। वहीं चैराहों पर जलने वाले अलाव लोगों का सहारा बने हुए हैं जबकि सड़को पर जीवन गुजारने वाले लोगों एवं राहगीरों का सहारा नगर पालिका परिषद द्वारा बनाये गए रेन बसेरे बने हुए है। जनवरी माह में ठंड में कुछ राहत मिलने की उम्मीद लगाए लोगो को पहाड़ी क्षेत्र की बर्फबारी व प्रदेश के कई जनपदों में हुई बारिश से बढ़ी ठंडक ने मुश्किलो में और इजाफा ही किया है। वहीं मौसम विभाग के अनुसार बारिश ओलावृष्टि के साथ गलन व शीतलहर में अभी कोई राहत मिलने की उम्मीद नही दिखाई दे रही है। ऐसे में लोगों को जनवरी माह में सर्दियो का असर कम होने के कोई आसार नजर नही आ रहे है।

No comments