Latest News

रमकुण्डा महल की जमीन हड़पने वाले गये जेल

हमीरपुर, महेश अवस्थी । सरीला राज घराने की जमीन को अपनी बताकर केसीसी कार्ड बनवाकर लाखों रुपये की निकासी कराने वाले तीन आरोपियों ने अदालत में समर्पण कर दिया। जिन्हें जेल भेज दिया गया है। आरोपियों के खिलाफ गैर जमानती वारण्ट जारी हो चुके थे, मगर पुलिस ने इनकी गिरफ्तारी नहीं की थी। रमकुण्डा महल की जमीन पर वर्ष 2017 में फर्जी तरीके से 7.49 लाख रुपये के केसीसी बनवाया। जिस जमीन पर यह क्रेडिट कार्ड बनवाया गया वह राज घराने की नीलिमा सिंह पत्नी धरमपाल सिंह के नाम पर थी। जिनकी मौत छह वर्ष पूर्व हो चुकी है। जब इसकी जानकारी कुंवररानी रजनी सिंह पत्नी धीरेन्द्र सिंह को हुई तो उन्होंने बैंक से स्टेटमैंन्ट
निकलाया। 25 मई 2017 को नीलिमा सिंह की गाटा संख्या पर नीलम पुत्र धरमपाल के नाम से लोन पास होने का खुलासा हुआ। बैंक ने चरन सिंह व भगत सिंह नाम के व्यक्तियों को विभिन्न तारीखों में लोन की राशि का भुगतान किया था। इन दोनों व्यक्तियों का सरीला राजघराने में आना जाना था जिसका फायदा उठाकर उन्होंने राज घराने के साथ धोखाधड़ी की थी। जिस नीलम के नाम पर केसीसी बनवाया गया वह चरन सिंह की बहन है। मिलते, जुलते नाम का फायदा उठाकर यह फर्जीवाड़ा किया गया। चरन सिंह, भारत सिंह और नीलम के खिलाफ धारा-419, 420, 467, 468 और 471 ताहि में जरिया थाना में मुकदमा कायम हुआ, जिसके चलते कोर्ट से तीनों आरोपियों को गैर जमानती वारण्ट हुये तब इन्होंने अदालत में समर्पण किया। कोर्ट ने इनकी जमानत खारिज कर जेल भेज दिया है।

No comments