Latest News

हैप्पी सीडर करता है श्रम व आर्थिक बचत किसान की: डाॅ सोनकर

हमीरपुर, महेश अवस्थी । कृषि विज्ञान केन्द्र कुरारा के वैज्ञानिकों का प्रतिनिधि मण्डल कुरारा ब्लाक के गांव बरूआ में हैप्पी सीडर से बुआई कराने के बाद किसानों के प्रक्षेत्र में प्रभण कर उन्हें जरूरी टिप्स दिये। केन्द्र की वैज्ञानिक डाॅ शालिनी ने प्रक्षेत्र प्ररीक्षण धान की कटाई के बाद बिना पराली जलाये गेंहू की सीधी बुआई हैप्पी सीडर से करायी थी। जहां गेंहू का अंकूरण पूरी तरह से हुआ। खेत में हैप्पी सीडर द्वारा छोटे-छोटे पराली के

टुकड़ों को कटकर खेत में ही सड़ाकर फसल में खाद के रूप में बन जाने से कारगर सिद्ध हो रहे हैं। खेत की उर्वरा शक्ति भी बढ़ी है। उन्होंने रविशंकर के खेत में गेंहू के खरपतवार नियंत्रण हेतु वैष्टा खरपतरवानासी को 160 ग्राम को 200 लीटर पानी में मिलाकर स्वयं खड़े होकर खेत में स्प्रे कराया। डाॅ सोमवंसी ने बताया कि हैपी सीडर किसान भाईयों के लिये बहुत उपयोगी यंत्र है। इसका प्रयोग कर श्रम और आर्थिक बचत दोनों कर सकते हैं। केन्द्र के वैज्ञानिक डाॅ एसपी सोनकर ने कहा कि किसान भाई किसी तरीके से वैज्ञानिकों द्वारा बतायी गई नई कृषि यंत्रों की तकनीकी को अपनाते रहेंगे तो निश्चित तौर पर पराली जलाने से छुटकारा मिल जायेगा। हैप्पी सीडर से बुआई के बाद पराली नमी संरक्षण का काम करती है। 

No comments