Latest News

कौन बनेगा नन्हा कलाम, प्रतियोगिता का होगा आयोजन

जिलाधिकारी ने प्रधानाचार्यों के साथ बैठक कर दिए निर्देश 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । जिला विज्ञान क्लब की ओर से आयोजित कौन बनेगा नन्हा कलाम प्रतियोगिता के आयोजन के लिए जिलाधिकारी हीरा लाल की अध्यक्षता में कलेक्टेªट सभाकक्ष में जनपद के प्राथमिक, माध्यमिक विद्यालयों के प्रधानाचार्यों की बैठक सम्पन्न हुई।
जिलाधिकारी हीरा लाल ने कहा कि जनपद के 08 विकास खण्डों में एक लाख 70 हजार बच्चों को विज्ञान के क्षेत्र में रूचि उत्पन्न करने हेतु चार चरणों में लिखित, मौखिक निबंध एवं अभिनव माडल विज्ञान प्रदर्शनी के माध्यम से जनपद में नन्हा कलाम का चयन किया जायेगा, जिसमें बेसिक शिक्षा एवं माध्यमिक स्तर के विद्यालयों, नवोदय विद्यालय, कस्तूरबा बालिका विद्यालय, राजकीय हाई स्कूल, इण्टर कालेजों में कार्यक्रम प्रस्तावित किया गया है। जनपद में नव प्रवर्तन एवं नवाचार की प्रवृत्ति बच्चों के मध्य जाग्रत करने के लिएयह कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य होगा। बच्चों में जिज्ञासा उत्पन्न करना, आत्मविश्वास का विकास हो सके, पहल करने की क्षमता विकसित हो सके, प्रश्न पूछने का साहस पैदा हो सके, सृजनात्मकता का विकास हो सके, समाजिक कुरीतियों को समाप्त करने में सहायक बन सकें। सौन्दर्य कला व सच्चाई के प्रति आकर्षण उत्पन्न हो
प्रधानाचार्यों की बैठक को संबोधित करते अधिकारी
सके और देश के अच्छे नागरिक बन सकें। जिलाधिकारी ने बताया कि प्रतियोगिता के प्र्रथम चरण में विद्यालय स्तर पर आनलाइन आवेदन किया जायेगा। इसके अन्तर्गत छात्रों का पंजीकरण कक्षा 06 से 08 तक एवं सीनियर वर्ग के लिए 09 व 10 में अलग-अलग किया जायेगा। द्वितीय चरण में तहसील/ब्लाक स्तर पर दोंनो वर्गों में आवेदन करने वाले विद्यार्थियों की विज्ञान सन्दर्भित लिखित एवं बहुविकल्पीय प्रश्नों की एक प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा। तृतीय चरण में होने वाली जनपद स्तरीय परीक्षा ली जायेगी तथा चतुर्थ चरण में चयनित जूनियर तथा सीनियर वर्ग के विद्यार्थियों की निम्न पाठक्रम पर आधारित परीक्षा करायी जायेगी। विषय होगा विज्ञान माडल, विज्ञान प्रक्रिया, रिजनिंग टेस्ट, प्रोजेक्टर टेस्ट, लिखित परीक्षा, जो बच्चे परीक्षा में प्रथम स्थान हासिल करेंगे उन्हें नन्हा कलाम की उपाधि एवं पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा। उरई जिले से आए हुए जिला विद्यालय निरीक्षक डा. भागवत पटेल ने अपने जिले में इसे माडल के रूप में प्रदेश में प्रथम स्थान हासिल कराया है। यह बहुत ही प्रसंशनीय कार्य है। अब इन्ही के द्वारा इस जनपद को भी माडल के रूप तैयार किया जायेगा और आल इण्डिया में बांदा को माडल बनाया जायेगा। श्री पटेल ने कहा कि नन्हा कलाम का कान्सेप्ट बहुत ही अच्छा है और हम सभी को बच्चों के लिए अच्छा सोचना चाहिए क्योंकि शिक्षक भगवान का रूप होंते हैैं। श्री पटेल ने कहा कि शिक्षा एक ऐसी प्रणाली है, जो बन्द तालों को भी खोल देती है। आप लोंगो को हमेशा मिशन मोड के रूप में कार्य करना चाहिए। उन्होंने इन पंक्तियों के माध्यम से उपस्थित प्रधानाचार्यों को समझाने का प्रयास किया। गहन सघन मन मोहक वन तरू मुझको आज बुलाते हैं, किन्तु किए जो वादे मैंने याद मुझे आ जाते हैं, अभी कहां आराम बदा है यह मूक निमंत्रण छलना है, अरे अभी सोने से पहले मीलों मुझको चलना है। बैठक में जिला विद्यालय निरीक्षक विनोद कुमार, जिला विज्ञान क्लब के संचालनकर्ता सनी कुमार सहित सम्बन्धित विद्यालयों के प्रधानाचार्य उपस्थित रहे। 

No comments