Latest News

धान खरीद केंद्रों में लगा ताला, किसान परेशान

जिलाधिकारी ने किसानों को दिया शिकायती पत्र, कार्रवाई की मांग 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । किसानों की समस्याएं खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। धान खरीद केंद्रों को समय से पहले बंद कर दिए जाने से किसान परेशान हैं सैकड़ों ट्रैक्टर मंडी समिति में धान से भरे खड़े हैं, उनका धान नहीं खरीदा जा रहा है। खरीद केंद्रों में ताला लगा हुआ है। परेशान किसानों ने मंगलवार को जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया और कार्रवाई करते हुए धान की खरीद करवाए जाने की मांग की है। 
धान खरीद केंद्र बंद होने की शिकायत करने आए किसान
किसानों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर बताया कि धान बेंचने के लिये करतल मण्डी लेकर गये, जहां पीसीएफ केन्द्र प्रभारी हरीश वर्मा, पीसीयू के रामस्वरूप मुनीम व यूपीएसएस के केन्द्र प्रभारी धीरेन्द्र तिवारी ने धान खरीद केन्द्र में 15 जनवरी से धान तौलने के लिये रखा हैं लेकिन 23 जनवरी तक यह कहा जाता रहा कि बोरी नही है। जब बोरी आ जायेगी तब तौल करायेंगे। लेकिन 25 जनवरी को धान तौलने के लिये कहा गया तो उन्होने कहा कि धान वापस ले जाओ। साइट बंद होने से धान खरीदा नही जा सकता है। किसानों ने बताया कि यदि उनका धान नही बिका तो वह खराब हो जायेगा और किसानों के सामने भुखमरी का संकट खड़ा हो जायेगा। मण्डी करतल के केन्द्र प्रभारी द्वारा कहा जा रहा है कि 28 फरवरी तक धान खरीद होगी लेकिन केन्द्र प्रभारी द्वारा 15 जनवरी से खरीद को बंद कर दिया गया है। किसानों ने जिलाधिकारी से मांग की है कि धान साइट खुलवाकर किसानों का धान खरीदा जाये। जिससे किसानों को समस्याओं का सामना नही करना पडे। इस दौरान किसान रामरती, जागेश्वर, गोविन्द दास, ब्रजगोपाल पटेल, महेश प्रसाद, उषा, कुशल रंजन, विनीत कुमार, लक्ष्मी प्रसाद, संदीप, रमाशंकर, घनश्याम, चन्द्रशेखर, राजकुमारी, श्रीराम पटेल, प्रमोद कुमार, रामनरेश, रामगरीब, कमलेश, रामअवधेश, फूल सिंह, अजय सिंह, नरेन्द्र तिवारी, जनार्दन शुक्ला, कमलेश प्रसाद, किशोरी, अखिलेश कुमार, अवधेश आदि मौजूद रहे। 

No comments