Latest News

आयुष्मान कार्ड धारकों का बना अलग वार्ड, जांचों में मिली वरीयता

हमीरपुर, महेश अवस्थी । प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना जिले में 2011 में लागू हुई थी। जिसमें 86167 परिवारों को गोल्डन कार्ड जारी किये गये, जिसमें 58691 लाभार्थियों के कार्ड एक्टिवेट हो चुके हैं। कैम्प लगाकर इन कार्डों को एक्टिवेट किया जा रहा है। योजना को और कारगर बनाने के लिये कुछ नये नियम जारी किये गये है, जिससे सरकारी अस्पताल में निःशुल्क उपचार के साथ ही सुविधाओं में बढ़ोतरी की गई है। योजना के नोडल अधिकारी डाॅ आरके यादव बताते हैं कि कार्ड धारकों के रजिस्टेªशन के लिये अलग से काउण्टर खोला गया है। इस काउण्टर पर गोल्डन कार्ड दिखाने पर ओपीडी स्लिप निर्गत की जायेगी। अगर लाभार्थियों के पास गोल्डन कार्ड नहीं है तो उसे तत्काल बनवाया जायेगा। अस्पताल में होने वाली जांचे एक्सरे, अल्ट्रासाउन, सिटी स्केन और
 
पैथोलाॅजी में वरीयता दी जायेगी। लाभार्थियों के लिये अस्पताल में अगल से वार्ड स्थापित हो चुका है। उपचार के बाद प्रप्त प्रतिपूर्ति धनराशि से वार्ड का निर्माण होगा। पहले से उपलब्ध भर्ती की पर्चियों पर आयुष्मान लाभार्थी हां या नहीं की मुहर लगायी जायेगी। अनिवार्य रूप से डाटावेस में स्क्रीनिंग कर लाभार्थी की पहंचान की जाना है। मैंनेजर गौरव निगम ने बताया कि 1025 लाभार्थियों ने अभी तक प्रदेश व देश के विभिन्न अस्पतालों में निःशुल्क उपचार कराया है। 208 लाभार्थियों को सरकारी और प्राईवेट अस्पतालों में उपचार हुआ है। 03 प्राईवेट अस्पताल ब्रजरानी राठ, ब्रजराज और विमल नर्सिंग होम हमीरपुर के अलावा 08 सरकारी अस्पताल जिले के विभिन्न भागों में हैं। छानी और इमिलिया सीएचसी को शामिल करने की प्रक्रिया चल रही है। जिसमें लाभार्थी को 05 लाख रुपये तक का इलाज निःशुल्क मिलेगा। इसमें 1416 बीमारियों को कवर किया गया है। मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ राज कुमार सचान ने कहा कि अपने कार्डों को एक्टिवेट कराके चयनित अस्पतालों में इलाज करायें, अगर किसी को दिक्कत है तो तुरन्त सम्पर्क करें। 

No comments