Latest News

पारम्परिक ढंग से मनाया गया मकर संक्रान्ति का पर्व

अलग-अलग स्थानों पर खिचड़ी भोज के हुए कार्यक्रम 
दिन भर चला पतंगबाजी का दौर

फतेहपुर, शमशाद खान । मकर सक्रांन्ति का पर्व बुधवार को समूचे जनपद में हर्षोल्लास के बीच मनाया गया। पर्व के मौके पर विभिन्न संगठनों द्वारा खिचड़ी भोज के आयोजन भी किये गये। साथ ही कैम्प लगाकर खिचड़ी का वितरण किया गया। पर्व के दौरान श्रद्धालुओं ने सुबह-सुबह गंगा स्नान में डुबकी लगायी तत्पश्चात खिचड़ी का लुत्फ उठाया। उधर युवाओं एवं बच्चों ने खिचड़ी के साथ ही पतंगबाजी का जमकर लुत्फ उठाया। दुकानों पर पतंग व मंझा-डोर खरीदने के लिए युवाओं एवं बच्चों की भीड़ लगी रही। दिन भर पतंगबाजी का दौर चला। 
मकर संक्रिन्त के पर्व को लेकर कई दिनों पहले से तैयारियां की जा रही थी। महिलाओं ने तरह-तरह के पकवान बनाने के लिए जमकर खरीददारी की थी। बुधवार की सुबह से ही पर्व को लेकर सभी घरों में गजब का उत्साह देखा गया। उरद की दाल की खिचड़ी, दही बड़ा, पापड़ सहित अन्य व्यंजन तैयार किये। सर्वप्रथम लोगों ने स्नान किया तत्पश्चात पूजा-अर्चना हुयी और गरमागरम खिचड़ी का लुत्फ उठाया। इसके अलावा ओम घाट भिटौरा सहित अन्य धाटों पर गंगा स्नान करने वालों का जमावड़ा लगा रहा। मान्यता के अनुसार सर्वप्रथम लोगों ने गंगा स्नान किया। तत्पश्चात खिचड़ी का आनन्द उठाया। मकर संक्रान्ति के पर्व पर पतंगबाजी भी अहम है। पर्व में प्रथा
विभिन्न स्थानों पर आयोजित किये गये खिचड़ी भोज में शामिल लोग।
के अनुसार पतंगबाजी करने के लिए सुबह से ही दुकानों पर युवाओं एवं बच्चों की भीड़ लगी रही। दुकानों पर सजी रंग-बिरंगी पतंगे सभी को अपनी ओर आकर्षित कर रही थी। युवाओं एवं बच्चों ने अपनी मन पसंदीदा पतंगे, डोर व मंझा खरीदा और किसी ने अपने घर की छत तो किसी ने मैदान में पतंगबाजी का जमकर लुत्फ उठाया। दांव-पेंच के दौरान किसी की पतंग कटी को बच्चों का हुजूम का हुजूम पतंग लूटने के लिए दौड़ पड़ा। छीनाझपटी के बीच पतंग के टुकड़े-टुकड़े भी हुये। आसमान पर रंग-बिरंगी लहलहा रही पतंगे अपनी ओर लोगों को आकर्षित कर रही थी। ठण्ड के बावजूद लोगों ने पतंगबाजी का जमकर लुत्फ उठाया। देर शाम तक पतंगबाजी का दौर चला। पर्व को लेकर कई स्थानों पर खिचड़ी भोज कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया। लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल फाउण्डेशन के तत्वाधान में खिचड़ी भोज का आयोजन किया गया। जिसमें सभी वर्गों को एक साथ विभिन्न विकृतियों को दूर करते हुएभाईचारा का संदेश दिया। लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल के सपनों को साकार करने के लिए अखण्ड भारत को एक किया। इस अवसर पर राजेश सिंह, संजय सचान, आचार्य कमलेश योगी, राम सिंह पटेल, बुद्धराज धाकड़ी, रवी प्रकाश गुप्ता, विजय शंकर, भोला प्रसाद गुप्ता, वेद पटेल, बीएल प्रजापति, वाईपी पाण्डेय, नवरंग सिंह चैहान, परशुराम बाजपेयी, राम आसरे सिंह, सतीश मिश्रा, मुकेश भारती, अशोक कुमार विश्वकर्मा, बाबा रामसनेही आदि मौजूद रहे। इसी तरह मानव सेवा परिवार द्वारा चैक चैराहे पर राधेश्याम हयारण के नेतृत्व में खिचड़ी भोज आयोजित किया गया। आने-जाने वाले लोगों को गरमा-गरम खिचड़ी दी गयी। खिचड़ी खाकर लोगों ने आयोजकों की जमकर प्रशंसा की। इस मौके पर नारायण गुप्त, विनोद कुमार गुप्त, पंकज गुप्त, विनोद कसेरा, अमिताभ बिहारी शरन, शैलेन्द्र शरन सिम्पल, अमित शरन बाबी, दीपक साहू, वेद प्रकाश गुप्ता, सुरेन्द्र पाठक, उमेश सोनी, सूर्या, सुमित गुप्ता आदि रहे। उधर नगर पालिका परिषद के पूर्व चेयरमैन अजय अवस्थी ने साईं मंदिर कलक्टरगंज में खिचड़ी भोज का आयोजन किया गया। जिसमें सभी धर्मों के प्रमुखों ने अपनी-अपनी भूमिका निभाई। जिसको समरसता भोज का नाम दिया गया। उपस्थित सभी लोगांे ने खिचड़ी का लुत्फ उठाया। इस मौके पर शहरकाजी सैय्यद शहीदुल इस्लाम अब्दुल्ला, सिक्ख पंथ से ज्ञानी गुरूवचन सिंह, सईद अहमद, वकील खान, वरिष्ठ अधिवक्ता राजकुमार मौर्य, श्रवण कुमार गौड़, रणधीर सिंह एडवोकेट, सुधाकर अवस्थी एडवोकेट, दिवाकर अवस्थी, सुनील शुक्ला, गोरेलाल शुक्ला, देवनारायण तिवारी, अमित तिवारी, ओम श्रीवास्तव, सरदार सेठी सिंह, पपिन्दर सिंह, शोभा दुबे, संतोष सिंह, माया पाण्डेय, रंजना सिंह आदि मौजूद रहे। इसी तरह गड़रियन पुरवा स्थित कांशीराम कालोनी में खिचड़ी खिलाई गयी। जिसमें बीडीओ संध्या रानी का विशेष सहयोग रहा। बच्चों को योगा भी करवाया गया। बच्चों ने मनमोहक गीत गाकर आये हुए आगंतुकों को खुश कर दिया। श्रवण कुमार पाण्डेय पथिक, प्रधानाचार्य नरेन्द्र सिंह ने भी सहयोग दिया। संस्कारशाला के प्रमुख आचार्य रामनारायण ने सभी का आभार प्रकट किया। इस मौके पर अरशिया, साजिया, प्रियंका, प्रतिभा ने सुन्दर गीत गाये। 

No comments