Latest News

अंतरा गर्भनिरोधक इंजेक्शन: महिलाओं के लिए सुरक्षित विकल्प

‘अंतरा’ लगवाने वाली महिलाएं अपनी शंकाए सुलझाए केयर लाईन से
अंतरा केयरलाईन 1800-103-3044

बांदा, कृपाशंकर दुबे । जनपद में महिलाओं के प्रजनन स्वास्थ्य में सुधार लाने और परिवार नियोजन में लोगों की भागीदारी बढाने के लिए स्वास्थ्य विभाग निरंतर प्रयास कर रहा है। पिछले कुछ वर्षों में परिवार नियोजन के अस्थाई विकल्पों में कई नए नाम जोड़े गए हैं जो विश्वसनीय होने के साथ-साथ इस्तेमाल में बेहद आसान है। इनमें से सबसे अहम है अंतरा गर्भनिरोधक इंजेक्शन।
परिवार नियोजन के नोडल अधिकारी डा. बीपी वर्मा बताते हैं कि अंतरा इंजेक्शन अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए व दो बच्चों के बीच अंतर रखने के लिए एक सुरक्षित अस्थायी गर्भनिरोधक विकल्पों में से एक है। तीन माह
(त्रैमासिक) के अंतराल में लगने वाला यह इंजेक्शन एक बार लगवाने पर तीन माह तक अनचाहे गर्भ से छुटकारा देता हैं। अंतरा इंजेक्शन जिला महिला चिकित्सालय, सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों व उप-केन्द्रों पर निशुल्क लगाया जाता है। अंतरा की सबसे खास बात अंतरा केयरलाइन टोल फ्री नंबर 1800-103-3044 है जिससे जुड़कर महिलाएं किसी भी तरह की समस्या होने पर घर बैठे ही सलाह ले सकती हैं। टोल फ्री नंबर डायल करने पर अंतरा से जुड़ी हर समस्या की उचित सलाह परामर्शदाता से मिल जाती है। अतः अंतरा इंजेक्शन लगवाते ही महिला को अंतरा केयरलाईन 1800-103-3044 पर अपने को पंजीकृत करवाना चाहिए। डा. बीपी वर्मा ने बताया कि वर्ष 2018 अप्रैल से मार्च 2019 में जनपद में कुल 1202 महिलाओं ने अंतरा को अपनाया था, जबकि वर्ष 2019 अप्रैल से दिसंबर 2020 तक 2099 महिलाएं इसका लाभ ले चुकी हैं। अंतरा लगवाने वाली लाभार्थी को प्रति डोज 100 रुपये और लाने वाली आशा (मोटीवेटर) को भी सौ रुपये मिलते है।

ऐसे जुड़े केयर लाइन से

- अंतरा का पहला इंजेक्शन लगवाते ही लाभार्थी महिला को इस नम्बर पर (1800 103 3044) कॉल कर अपना नाम रजिस्टर्ड करवाना है, ताकि उन्हें उसके बाद समय पर इन्जेक्शन सम्बन्धी परामर्श की सुविधा मिलती रहे।
- रजिस्टर्ड होने के बाद महिला को केयर लाइन से अगले इंजेक्शन की तारीख भी याद दिलायी जाती है।
- टोल फ्री नंबर पर दी गई सभी सूचनाएं गोपनीय रखी जाती है।
- टोल फ्री नम्बर की सुविधा सुबह 8 से रात 9 बजे तक उपलब्ध है।

पहली डोज लेने पर इन बातो का रखे ख्याल -

- डाक्टर के द्वारा उचित स्क्रीनिंग हो जाने पर गर्भनिरोधक इंजेक्शन को किसी भी समय चुना जा सकता है पर पहली डोज लेने पर इन बातो का ख्याल रखना चाहिए 
- नियमित मासिक धर्म के बाद कभी भी
- प्रसव के 6 सप्ताह के बाद
- गर्भपात के तुरंत बाद

इंजेक्शन लगाने के बाद इन बातों को न करें नजरंदाज

- जहां इंजेक्शन लगा, उस जगह मालिश न करें
- इंजेक्शन की जगह पर गर्म सिंकाई न करें
- इंजेक्शन लगने के बाद 5-10 मिनट के लिए अस्पताल में ही रुके 
- अंतरा कार्ड पर दी गयी तारीख पर ही इंजेक्शन लगवाए

No comments