Latest News

संगठित समाज का वैश्य बंधुओं ने लिया संकल्प

फतेहपुर, शमशाद खान । अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद द्वारा आयोजित खिचड़ी सहभोज व विचार गोष्ठी में बड़ी संख में वैश्य बंधुओं ने एकत्रित होकर खिचड़ी, पापड़ का आनन्द लेते हुए मकर संक्रान्ति के अवसर पर संगठित समाज का संकल्प लिया। 
कार्यक्रम को सम्बोधित करते पूर्व न्याय मंत्री राधेश्याम गुप्त।
अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद द्वारा कलक्टरगंज स्थित एक लाज में खिचड़ी सहभोज व विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए परिषद के पूर्व जिलाध्यक्ष वेद प्रकाश गुप्त ने कहा कि जिस प्रकार खिचड़ी में दाल-चावल मिलाकर एक विशेष व्यंजन बनता है उसी प्रकार वैश्य एकता परिषद में सभी उपवर्गों को एक साथ मिलाकर एक वैश्य वट वृक्ष का निर्माण होता है। उन्होने कहा कि संगठन सर्वोपरि होता है। मुख्य अतिथि परिषद के प्रधान संरक्षक व पूर्व न्याय मंत्री राधेश्याम गुप्त ने कहा कि आज से सूर्य उत्तरायण से दक्षिणायन में प्रवेश करता है। सूर्य देवता एक नई ऊर्जा के साथ समाज को लाभान्वित करते हैं। इसी प्रकार संगठन व वैश्य समाज को एक नई ऊर्जा के साथ-साथ नई योजनाओ को बनाकर संगठन को आगे बढ़ाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान देना होगा। विशिष्ट अतिथि युवा राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज गुप्त ने कहा कि किसी भी राष्ट्र या संगठन में युवाओं का खास महत्व होता है। युवा संगठित होकर जिस भी दिशा में अग्रसर होते हैं वह संगठन काफी बुलन्दियों को छूता है। कार्यक्रम का संचालन करते हुए राष्ट्रीय युवा प्रधान महासचिव अरूण जायसवाल ने संगठन को और गतिशील बनाने के साथ-साथ अधिक से अधिक युवाओं को संगठन से जोड़ने का संकल्प दोहराया। इस मौके पर राष्ट्रीय महासचिव विनोद कुमार गुप्त, विपिन बिहारी शरन, संजय गुप्त, राम बाबू गुप्त, ओम प्रकाश गुप्त, नरेन्द्र गुप्ता, उमाशंकर गुप्त, मंजू मित्तल, माधुरी साहू, सुरेश गुप्त, युवा जिलाध्यक्ष शैलेन्द्र शरन सिम्पल, मनोज गुप्त, अमित शरन बाबी, राम विशाल गुप्त, सावन गुप्त, दीपक साहू, सत्येन्द्र अग्रहरि, अमित, आशीष अग्रहरि, इं0 शिव गोविन्द गुप्त, राधेश्याम हयारण, मनोज सोनी, महिला जिलाध्यक्ष उमाशरन, गंगा प्रसाद साहू, गुरूशरन आदि मौजूद रहे। 

No comments