Latest News

धरना स्थल पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारी

एसडीएम के समझाने पर नही माने आंदोलनकारी 

कालपी (जालौन), अजय मिश्रा । राष्ट्रीय राजमार्ग फोरलेन सड़क चौड़ीकरण में अधिग्रहित भूमि  एवं भवन का मुआवजा न मिलने से नाराज प्रभावित व्यक्तियों का आंदोलन लगातार तीसरे दिन भी जारी रहा। शनिवार को धरना स्थल में एसडीएम ने आंदोलनकारियों के बीच बैठकर समझाया लेकिन प्रभावितों के द्वारा धरना समाप्त करने से इंकार कर दिया गया। जिससे प्रशासनिक अफसरों को वापस लौटना पड़ा।
उल्लेखनीय हो कि झाँसी-कानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग फोरलेन सड़क चैड़ीकरण परियोजना में हाईवे किनारे के वाशिंदों के भूमि एवं भवनों को राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के द्वारा अधिग्रहण करने की कार्यवाही पूरी कर ली
अनशनकारियों को समझाते अधिकारी।
गई है एवं अधिग्रहित जमीन में सड़क चैड़ीकरण का निर्माण कार्य भी चल रहा है। फोरलेन संघर्ष समिति के अध्यक्ष डॉ. बनारसीदास विश्नोई ने उच्च अधिकारियों को भेजे पत्र में आरोप लगाया कि बिना भूमि का प्रतिकर अदा करें प्राधिकरण की कार्यदायी संस्था गैर कानूनी ढंग से कब्जा करके सड़क चैड़ीकरण का कार्य कर रही है। जिससें नाराज परियोजना प्रभावितों के द्वारा पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत हाईवे किनारे धरना शुरू कर दिया गया है। जो लगातार तीसरे दिन भी चलता रहा। शनिवार की दोपहर को तहसीलदार शशिविंद द्विवेदी तथा ईओ सुशील कुमार दोहरे के साथ धरना स्थल पर पहुंचे उपजिलाधिकारी कौशल कुमार ने फोन के माध्यम से आंदोलनकारियों से अपर जिलाधिकारी प्रमिल कुमार से वार्ता कराई तथा समझाते रहे। लेकिन प्रभावितों ने कहा कि हम लोग शांति पूर्वक धरना देते रहेंगे जब तक हम लोगों की मांग पूरी नही हो जाती है। जिसके बाद प्रशासनिक अफसर वापस लौट गये।

No comments