Latest News

फाइनल मैच में छानी टीम विजेता, इटहिया रही उप विजेता

सीओ सुबोध गौतम ने खिलाड़ियों को किया प्रोत्साहित

जालौन (उरई), अजय मिश्रा । प्रतियोगिताओं के माध्यम से युवाओं की प्रतिभा में निखार आता है। हार जीत से निराश या अति उत्साहित होने की आवश्यकता नहीं है। बल्कि आगे की तैयारियों में मन से जुट जाएं। यह बात ग्राम इटहिया में आयोजित दो दिवसीय कबड्डी प्रतियोगिता के समापन पर सीओ सुबोध गौतम ने कही। प्रतियोगिता के फाइनल मैच में छानी की टीम इटहिया की टीम को हराकर विजेता बनी।
क्षेत्रीय ग्राम इटहिया में दो दिवसीय कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें 14 टीमों ने प्रतिभाग किया। प्रतियोगिता का फाइनल मैच छानी व इटहिया के बीच हुआ। जिसमें छानी की टीम ने 28 का स्कोर किया जबकि इटहिया की टीम मात्र 25 का स्कोर की कर सकी। कांटे के मैच में इटहिया की टीम को हराकर छानी की
खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करते सीओ संजय गौतम।
टीम विजेता बनी। समापन के अवसर पर मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद रहे सीओ सुबोध गौतम ने खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किया। उन्होंने कहा कि ग्रामीण अंचलों में होने वाली इन प्रतियोगिताओं से छिपी हुई प्रतिभाओं की खोज होती है। इन्हीं में से आगे चलकर खिलाड़ी राज्य व देश के लिए खेलकर नाम रोशन करते हैं। एक जीत या हार से निराश या अति उत्साहित होने की आवश्यकता नहीं है। हारने वाली टीम विचार करे कि उसने क्या गलतियां की हैं। उन गलतियों से सबक सीखकर आगे और मेहनत करें और सफलता प्राप्त करें। उन्होंने विजेता टीम को 5100 रुपए नगद का पुरस्कर एवं शील्ड  प्रदान की। आयोजक मंडल के अध्यक्ष प्रदुम्न दीक्षित ने कहा कबड्डी हमारे देश का सबसे प्राचीन खेल है और कबड्डी का प्रादुर्भाव भारत से ही हुआ है और यह खेल पौराणिक मान्यताओं से भी जुड़ा हुआ है। इसलिए इसमें रूचि दिखाते रहना चाहिए। समाजसेवी शिवसेवक विश्वकर्मा ने कहा यदि ग्रामीण अंचलों में ऐसे टूर्नामेंट का आयोजन होने से ग्रामीण प्रतिभाएं भी निखरकर सामने आती हैं। इस मौके पर रामजी नगाइच, धर्मेंद्र दीक्षित, मुरारी दीक्षित, प्रदीप दीक्षित, हरिओम दीक्षित, रज्जन चिरवारिया, रविकांत दीक्षित, रोहित दीक्षित, दीपक गुबरेले, गणेश मुन्ना भाई, मुन्ना पहलवान चरसोनी, भरत समाधिया, रामखिलावन विश्वकर्मा चरसोनी, जयशंकर दीक्षित, गोरे दीक्षित, राहुल दीक्षित आदि मौजूद रहे।

No comments