Latest News

डायबिटीज, कैंसर, हाइपरटेंशन की जांच अब घर बैठे

जिले के दो ब्लॉक में पांच माह से दी जा रही है सेवाएं 

बिजनौर (संजय सक्सेना) गैर संचारी रोग (एनसीडी) डायबिटीज, कैंसर, हाइपरटेंशन आदि की जांच (स्क्रीनिंग) प्रत्येक परिवार की अब घर बैठे ही होगी। जिले के हल्दौर व जलीलपुर के 26 उप केन्द्रों पर सेवाएं गत पांच माह से दी जा रही हैं | 
आयुष्मान भारत योजना के तहत एनसीडी का प्रशिक्षण बीपीएम व बीसीपीएम को दिया गया | प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लेकर सीएमओ डा. विजय कुमार यादव ने गुणवत्ता को परखा| 
जिला समुदाय प्रकिया  प्रबंधक (डीसीपीएम) पूनम रानी ने बताया कि अब गांव के लोगों को घर बैठे कैंसर, हाइपरटेंशन, डायबिटीज जैसी बीमारियों का इलाज मिलेगा | इसके लिए आशा घर घर जाकर लोगो का डाटा जुटायेगी और जानकारी सीबैक फार्म के माध्यम से पूरी करेगी. इसके लिए हैल्थ एन्ड वेलनेस सेन्टर खुल चुके हैं जिन पर सामुदायिक हैल्थ ऑफिसर (सीएचओ) व एएनएम की तैनाती है| 30 वर्ष की उम्र पूरी करने वाले प्रत्येक ग्रामीण की घर बैठे ही स्वास्थ्य जांच होगी. इसके लिए आशा- एएनएम को प्रशिक्षण दिया जा चुका है | हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर  पर सुबह 9:00 बजे से शाम 4:00 बजे तक स्वास्थ्य सेवाएं मिलेंगी | उन्होंने बताया कि जिले में 91 केंद्र संचालित है जिनमें 26 अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शामिल हैं साथ ही 26 सीएचओ की  तैनाती की जा चुकी है| 

उन्होने बताया कि आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत कार्यशाला का आयोजन हौसला पोषण केंद्र पर किया गया | प्रशिक्षण में बीपीएम व  बीसीपीएम को एनसीडी पोर्टल पर होने वाली विभिन्न गतिविधियों के बारे में जानकारी दी गई ताकि सर्वे गांव गांव आशा के माध्यम से पूरा किया जा सके और उसकी ऑनलाइन फीडिंग की जा सके | ब्लाक हल्दौर जलीलपुर के 26 उप केंद्रों पर यह सभी सेवाएं पिछले 5 माह से दी जा रही है |
हौसला पोषण केन्द्र पर आयोजित कार्यशाला  के दौरान मनीष चौहान, नीरज कुमार, सचिन कौशिक, प्रमोद कुमार, अज़ीम, हर्षित कुमार , गगन कुमार, बबीता, शालिनी बिश्नोई, सलीम अहमद सहित अन्य बीपीएम व बीसीपीएम शामिल रहे |

No comments