निष्क्रियता के कारण वैश्य एकता परिषद की कमेटी भंग - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, January 18, 2020

निष्क्रियता के कारण वैश्य एकता परिषद की कमेटी भंग

जल्द ही कमेटी का गठन कर होगा शपथ ग्रहण समारोह
कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण हेतु मण्डल स्तर पर आयोजित होंगे चिन्तन शिविर

फतेहपुर, शमशाद खान । अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद के पदाधिकारियों ने बताया कि निष्क्रियता के कारण जनपद सहित पूर्वांचल के 18 जनपदों की सभी कमेटियां भग कर दी गयी हैं। शीघ्र ही उन जनपदों के नई कमेटियां गठित कर शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया जायेगा। संगठन के कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण के लिए मण्डल स्तर पर चिन्तन शिविरों का भी आयोजन किया जायेगा। जिसका शुभारम्भ एक मार्च को आगरा मण्डल से होगा। 
पत्रकारों से बातचीत करते परिषद के पदाधिकारी।
शनिवार कोे पत्रकारों से बातचीत करते हुए अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद के राष्ट्रीय महासचिव विनोद कुमार गुप्त, युवा राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज गुप्त व युवा राष्ट्रीय प्रधान महासचिव अरूण जायसवाल ने उक्त बातें कहीं। विनोद गुप्ता ने बताया कि जनपद सहित पूर्वांचल के 18 जनपदों की कमेटियां निष्क्रियता के अभाव में भंग कर दी गयी हैं। उक्त निर्णय पांच जनवरी को परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा0 सुमन्त गुप्त के सानिध्य में सम्पन्न हुयी राष्ट्रीय कार्य समिति की बैठक में लिया गया। श्री गुप्त ने बताया कि उक्त जनपदों की कमेटियां शीघ्र गठित की जायेगी। जिससे संगठन पुनः नई ऊर्जा के साथ अग्रसर हो सके। युवा राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज गुप्त ने कहा कि कार्यकर्ताओं को दिशा प्रदान करने के उद्देश्य से मण्डल स्तरों पर चिन्तन शिविर का आयोजन भी संगठन द्वारा किया जायेगा। इसके उपरान्त प्रदेश के सभी मण्डलों से अलग तिथियों में शिविर आयोजित किये जायेंगे। जिसमें राष्ट्रीय पदाधिकारियों द्वारा कार्यकर्ताओं को मार्गदर्शन प्रदान किया जायेगा। अरूण जायसवाल ने बताया कि कार्यकर्ताओं के अथक परिश्रम से संगठन ने पांच जनवरी को 25 वर्ष पूर्ण कर लिये हैं। परिषद सन 2020 को रजत जयन्ती वर्ष के रूप में पूरे प्रदेश सहित राष्ट्रीय स्तर पर मनाया जायेगा। इस मौके पर शैलेन्द्र शरन सिम्पल, अमित शरन बाबी, आशीष अग्रहरि आदि उपस्थित रहे। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages