Latest News

शासन से स्वीकृत धनराशि का करें सदुपयोग: डीएम

विकास योजनाओं की बिन्दुवार की समीक्षा
अनुपस्थित अधिकारियों से मांगा स्पष्टीकरण, रैंकिंग में सुधार लाने समेत समस्या निस्तारण के दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की मासिक समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई।
जिलाधिकारी ने जनपद स्तरीय अधिकारियों से कहा कि जिन विभागों के कार्यों में श्रेणी सी व डी आ रहा है उनकी प्रगति बढ़ायें। ताकि जनपद की रैंकिंग अच्छी रहे। बैठक में परियोजना प्रबंधक सेतु निगम, जिला खनिज अधिकारी, अधिशाषी अभियंता सिंचाई व लघु सिंचाई के प्रतिभाग न किये जाने पर स्पष्टीकरण मांगा है। उन्होंने नोडल अधिकारियों से कहा कि गौशालाओं पर अपने कर्मचारियों को लगाकर जहां शेड नहीं हैं उसकी रिर्पोट दें और व्यवस्था की जाये। अधीक्षण अभियंता विद्युत को निर्देश दिये कि जिन चिन्हित गौशालाओं के ऊपर विद्युत तार गई है उसको तत्काल हटा दिया जाये। कहीं पर कोई घटना नहीं होनी चाहिए नही ंतो संबंधित अधिकारी जिम्मेदार होंगे। खण्ड विकास अधिकारियों से कहा कि सभी गौशालाओं पर चारा, भूसा आदि की व्यवस्था रहे।
गोवंशों को किसी भी तरह की समस्या नहीं होनी चाहिए। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि वाट्सएप, फेसबुक व ट्विटर पर विशेष ध्यान दिया जाय। उसमें किसी भी विभाग की क्रिया प्रतिक्रिया आती है तो तत्काल जवाब दिया जाये। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतें। उन्होंने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिये कि राज्य, चैदहवां वित्त योजना पर बहुत कार्य होने हैं इसमें प्रगति लायें और पीएफएमएस से शत प्रतिशत भुगतान करायें। उन्होंने सभी ब्लाक नोडल अधिकारियों को निर्देश दिये कि विकास खण्ड का निरीक्षण कर विकास कार्यों में प्रगति बढ़ायें। उन्होंने सभी अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि इस वित्तीय वर्ष में जिन विकास कार्यों के लिए धनराशि शासन से स्वीकृत की गई है उसमें तत्काल समयबद्ध तरीके से शासन की मंशा के अनुरूप कार्य कराकर धनराशि का सदुपयोग करें। जिला विकास अधिकारी से कहा कि जिन विकास खण्डों द्वारा मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के आवेदन पत्र अभी तक जिला समाज कल्याण अधिकारी को उपलब्ध नहीं करायें हैं उनसे जवाब तलब करें। कल तक उनके समक्ष पत्रावली प्रस्तुत करें। पेंषन योजनाआंे में कहा कि जो नये लाभार्थियों को आवेदन पत्र स्वीकृत हुए हैं उनका एक जनपद स्तर पर मेगा कैम्प लगाकर जन प्रतिनिधियों के माध्यम से स्वीकृति पत्र वितरण करायें। जिला पंचायत राज अधिकारी, अधिशाषी अधिकारी तथा खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिये कि गांव, शहर तथा गलियों की सफाई व्यवस्था अच्छी तरह से करायें। इसका विशेष ध्यान दें। कहीं पर गंदगी नहीं मिलना चाहिए। उन्होंने खण्ड विकास अधिकारियों से कहा कि गौशाला में जहां निजी स्थानों पर कराये गये हैं उनका भुगतान मनरेगा से कराया जाये ओर जो अन्ना पशु बांध कर रखें उन्हें तीस रूपये के हिसाब से भुगतान किया जाये। गोंवंशों के भरण पोषण के भुगतान के लिए ग्राम स्तरीय, ब्लाक स्तरीय तथा तहसील स्तरीय कमेटी गठित कर भुगतान करायें और प्रतिदिन गौशाला संचालन की फोटोग्राफ्स लेकर पत्रावली में रखें और उसका एक रजिस्टर भी तैयार करायें। उपायुक्त श्रम रोजगार से कहा कि जिन तालाबों को अवैध कब्जा से खाली करायें गये हैं उनकी सूची के अनुसार तत्काल सौन्दर्यीकरण का कार्य करायें तथा खण्ड विकास अधिकारी कार्यों की आईडी भी जनरेट करा लें। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना पर जिला विकास अधिकारी से कहा कि इनके कार्यों की रिर्पोट लेकर उपलब्ध करायें और मऊ-बरगढ़ पेयजल योजना के सभी कार्य पूर्ण हो गये हैं इसका एक प्रमाण पत्र परियोजना प्रबंधक जल निगम से लिया जाये। सुरसेन व हन्ना बिनैका का कार्य समय से करे। ग्राम समूह पेयजल योजना जो संचालित हैं। 

No comments