Latest News

मासूम भाई-बहन के शव भूसे के ढेर से मिले, मचा कोहराम

पिता ने ट्रामा सेंटर लगाया आरोप: बेटों की हत्या कर शव भूसे के ढेर में दबाया 
मटौंध थाना क्षेत्र के बजरंग पुरवा में हुई हृदय विदारक घटना, बदहवास हुए परिजन 
पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ शंकर मीणा ने मौके का किया निरीक्षण 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । दो मासूम भाई बहनों के शव गुरुवार की दोपहर बाद भूसे के ढेर से बरामद हुए तो परिजनों का कलेजा मुंह को आ गया। परिवारीजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। खबर पाकर पुलिस अधीक्षक
मृतक श्रृष्टि और उसका भाई आदर्श (फाइल फोटो)
सिद्धार्थ शंकर मीणा मौके पर पहंुचे और परिजनों को ढांढस बंधाया। मृतकों के पिता ने बच्चों की गला घोंटकर हत्या किए जाने और शव भूसे के ढेर में दबाए जाने का आरोप लगाया है। मालुम हो कि शव मृतकों के घर में ही भूसे के ढेर से बरामद हुए हैं। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। 
मटौंध थाना क्षेत्र के बजरंग पुरवा निवासी श्रीकृष्णचंद्र की बेटी श्रृष्टि (3) और बेटा आदर्श (2) गुरुवार की दोपहर घर में ही खेल रहे थे। खेलते-खेलते दोनो बच्चे लापता हो गए। घर में मौजूद मां मंजू को जब उसके बच्चे नजर नहीं आए तो उसने घर के अंदर बाहर और पड़ोस में खोजबीन की। न मिलने पर अन्य परिजनों को बताया। परिवार के सभी लोग बच्चों को ढूंढने में डट गए। गांव में भी खोजबीन की गई, लेकिन बच्चों का पता नहीं चला। इस पर मटौंध थाना पुलिस को सूचना दी गई। सीओ सिटी आलोक मिश्रा खबर पाकर फोर्स के साथ बजरंग पुरवा पहुंचे और घर में खोजबीन की। घर के आंगन में पड़े भूसे के ढेर में पड़ी पालीथिन जब उठाकर देखा गया तो दोनो मासूम भाई-बहनों के शव पड़े मिले। शव देखते ही परिजनों में कोहराम मच गया। आनन-फानन में दोनो बच्चों को जिला अस्पताल लाया गया। ट्रामा सेंटर में डाक्टरों ने देखते ही दोनो मासूम बच्चों को मृत घोषित कर दिया। बच्चों की मौत की पुष्टि हो जाने के बाद मां मंजू समेत परिजन बदहवास हो गए। सीओ सिटी आलोक मिश्र ने ट्रामा सेंटर में परिजनों को ढांढस बंधाया। गौरतलब हो कि मंजू के एक मात्र बेटी ही बची है, जिसकी उम्र छह माह है। परिजनों ने किसी भी प्रकार का आरोप किसी पर नहीं लगाया है। इधर, पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ शंकर मीणा बजरंग पुरवा पहुंचे और परिजनों से बातचीत की। इधर ट्रामा सेंटर में मौजूद पिता श्रीकृष्णचंद्र ने आरोप लगाया कि उनके बच्चों की गला घोंटकर हत्या कर दी गई और शव भूसे के ढेर में दबा दिए गए। 

No comments