Latest News

कराएं जाएंगे विकास कार्य, कानून व्यवस्था रहेगी दुरुस्त: आयुक्त

चित्रकूट में स्थापित किया जाएगा नगर निगम, शासन को भेजा गया प्रस्ताव 
परिक्रमा मार्ग से हटेगा अतिक्रमण, विकास परिषद का किया जाएगा गठन 
अवैध खनन करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा, पट्टेदार ही करेंगे खनन 
गौ संरक्षण के लिए पूरी युति के साथ किया जाएगा काम 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । नवागंतुक चित्रकूटधाम मंडलायुक्त गौरव दयाल ने रविवार को कार्यभार ग्रहण करने के बाद मीडिया से रूबरू हुए। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों को गति देने के साथ ही कानून व्यवस्था को दुरुस्त रखा जाएगा। इसके साथ ही चित्रकूट में नगर निगम की स्थापना के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा जा चुका है। परिक्रमा मार्ग में अतिक्रमण हटाया जाएगा। गौवंश संरक्षण के लिए भी पूरी ऊर्जा के साथ काम करेंगे। 
आयुक्त ने कहा कि चित्रकूट में नगर निगम की स्थापना की जाएगी। इसके लिए 11 अक्टूबर 2019 को शासन को प्रस्ताव भेजने के साथ ही जद्दोजद शुरू कर दी गई है। इसके साथ ही परिक्रमा मार्ग में अस्थाई और स्थाई अतिक्रमण को जल्द ही हटाया जाएगा। इसके साथ ही मंदाकिनी नदी को पुनर्जीवित करने के लिए प्रयास तेज
मयूर भवन सभागार में मीडिया से रूबरू आयुक्त गौरव दयाल (दाएं), साथ में जिलाधिकारी हीरा लाल
किए जाएंगे। अवैध खनन और अन्ना प्रथा के सवाल पर आयुक्त ने कहा कि अन्ना प्रथा को समाप्त करने के लिए प्रशासन पहले से ही काम कर रहा है और वह इस कार्य को और तेज करेंगे। इसके साथ ही खनन करने का अधिकार सिर्फ उन्हीं को होगा जिनके पट्टे होंगे। अवैध खनन किसी भी दशा में नहीं होने दिया जाएगा। आयुक्त ने यह भी बताया कि जिलाधिकारी हीरा लाल से उनकी कई मुद्दों पर चर्चा हुई है और उन्होंने तमाम जानकारियां भी हासिल की हैं। आयुक्त ने कहा कि मंडल में होने वाले पानी संकट के लिए पहले से ही पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे। जल शक्ति योजना के तहत तमाम योजनाओं को संचालित करते हुए काम किया जा रहा है। आयुक्त ने कहा कि गौवंश का संरक्षण एक तरह का चैलेंज है। इस चैलेंज पर वह पूरी ताकत के साथ काम करेंगे। आयुक्त ने कहा कि वह एक अच्छा माहौल बनाते हुए काम करेंगे। मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप मंडल में विकास कार्य कराए जाएंगे और कानून व्यवस्था को दुरुस्त रखा जाएगा। कानून व्यवस्था से खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ कोई रियायत न बरतते हुए सख्त कार्रवाई की जाएगी। गौरव दयाल वर्ष 2004 बैच के आईएएस अफसर हैं। वह कई मंडलों में आयुक्त के तौर पर तैनात रह चुके हैं। वह अब तक प्रभारी आयुक्त एवं निदेशक, एमडी राज्य वस्त्र निगम के पद पर कानपुर में तैनात थे। प्रे्रस वार्ता के दौरान जिलाधिकारी हीरा लाल, अपर आयुक्त चंद्रशेखर, उप निदेशक पंचायती राज दिनेश सिंह, उप निदेशक अर्थ एवं संख्या एसएन त्रिपाठी, उप निदेशक सूचना भूपेंद्र सिंह यादव, अपर सूचना अधिकारी शारदा यादव मौजूद रहीं। 

No comments