Latest News

विपक्षियों के गले की फांस बन रही निष्पक्ष कार्यशैली: आनंद

सपा नेता के मामले में बोले विधायक

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । भाजपा विधायक आनन्द शुक्ला ने कहा कि जानकारी प्राप्त हुई है कि सपा नेता निर्भय पटेल ने उच्च न्यायालय में कोई चुनाव सम्बन्धी याचिका दायर की है। बताया कि चुनाव दौरान समाजवादी पार्टी और उनके प्रत्याशी ने छल, भय, भ्रम, धन, बल और शराब के साथ अनेकों षड़यंत्र को चुनाव जीतने के लिये इस्तेमाल किया, लेकिन जब सर्व समाज ने सब कुछ सिरे से नकार दिया तो उच्च न्यायालय चले गये। अनुसूचित, पिछड़ा, क्षत्रिय, वैश्य, कोल, ब्राह्मण एवं अन्य सर्व समाज का अपार समर्थन इनकी आंखों को नही भा रहा। कहा कि पूर्व में ये क्षेत्र ददुआ, ठोकिया, बबली, लवलेश जैसे अनेक दुर्दान्त डकैतो के आतंक से ग्रसित रहा
है। डकैतों के चुनावी फरमान से जीत और हार हुआ करती थी। ददुआ चला गया पर उसकी मानसिकता से अभी भी हमारे विपक्षी साथी उबर नही पा रहे। विपक्षी समझ नही पा रहे कि ददुआ और दादू का समय चला गया। विधायक बनने के बाद उनकी निष्पक्ष कार्यशैली भी विपक्षियों की गले का फांस बन रही है। सेवा और सम्मान के कारण वह राजनीति में हैं। चुनाव के वक्त पांच प्रण लिया था जिसमे पहला था कि अपना सम्पूर्ण जीवन पूर्वजों की अपनी इस धरा पर जनता की सेवा के लिये समर्पित करता हूँ।‘‘ कोई कितना भी कुछ भी करले जनता की सेवा से उन्हें डिगा नही पायेगा। इस याचिका से ये स्पष्ट हो गया कि उनका मार्ग उचित है क्योंकि सत्य के मार्ग में ही बाधाएं आती है। पूर्व में भी विपक्ष चुनाव हारने के बाद ईवीएम पर दोष मढ़ती आयी है। 
कहा कि चुनाव भाजपा या आनन्द शुक्ला ने नहीं कराए हैं। बल्कि निर्वाचन आयोग ने पूरी निष्पक्षता के साथ कराया हैं। उन्होंने तंज कसा कि चुनाव परिणाम आने के बाद शायद विपक्षी प्रत्याशी राजनीति भूल गए थे, किंतु तीन महीने तक क्षेत्र मे उनकी सक्रियता, जनहित के कार्यों में शत प्रतिशत ईमानदारी, निष्ठा और लगातार बढ रहे जन समर्थन से विपक्षी बौखला गए हैं। हालांकि चुनाव प्रक्रिया को लेकर निर्वाचन अधिकारी की ओर से पक्ष रखा जाएगा। इसके बावजूद वह सपा प्रत्याशी को चुनौती देते हैं कि यदि चुनाव मे गडबडी की बात साबित कर दें तो वह राजनीति से सन्यास ले लेगें।साथ ही वह उच्च न्यायालय में अपना पक्ष पुरजोर तरीके से रखेंगे।

No comments