Latest News

दिल्ली का चुनाव रोमांचक स्थित है

देवेश प्रताप सिंह राठौर 
(वरिष्ठ पत्रकार)

दिल्ली के विधानसभा चुनाव इस समय चरम पर चल रहा है लोग अपने अपने प्रत्याशी को जिताने के लिए जी तोड़  मेहनत कर रहे हैं विशेषज्ञों का कहना है कि इस बार केजरीवाल सरकार पुनः आ सकती है उन विशेषज्ञों से मेरा एक निवेदन है और मैं उन्हें कई अनुभव की चीजें जो लोग बताया करते हैं उसमें अभी एक ही हाल ही में हुए चुनाव विधानसभा के हुए थे जिसमें छत्तीसगढ़ के रमन सिंह सरकार को कोई भी यह नहीं कह रही थी कि रमन सिंह की सरकार नहीं बनेगी ,परंतु छत्तीसगढ़ में रमन सिंह की सरकार नहीं बन सकी सभी के समीकरण धरे के धरे रह गए थे।वही हाल दिल्ली का चल रहा है दिल्ली में वर्तमान समय में जितने समीकरण निकल कर आ रहे हैं उसमें सबसे ज्यादा समीकरण आप पार्टी के केजरीवाल की स्थित अच्छी बताई जा रही है परंतु परिणामों के आधार पर और 11 फरवरी कीतारीख तक जो प्रणाम दिल्ली विधानसभा के आ जाएंगे उससे स्पष्ट हो जाएगा कि किसकी सरकार बनेगी आप पार्टी जिस तरह से अरविंद केजरीवाल अन्ना हजारे के मिशन में अपने को आगे करके जिस तरह अपने नाम को उन्होंने कमाया है और अन्ना हजारे के नाम को और उनके नाम के सहारे आजा दिल्ली की सरकार में मुख्यमंत्री के रूप में कार्य कर रहे हैं परंतु केजरीवाल ने जो दिल्ली में किया है मैं 2 साल पहले की बात बताना चाहता हूं जब मैं दिल्ली गया था एक ऑटो में बैठा हुआ था ऑटो वाले से पूछा यहां की
सरकार कैसी चल रही है ऑटो वाले ने बड़ी गंदी तरीके से बोला कि केजरीवाल को तो अब आना ही नहीं है। बहुत बड़ी गलती हो गई केजरीवाल को लाकर  इससे स्पष्ट होता है शायद केजरीवाल जी की आप पार्टी ने लोगों की मानसिकता को बदल रखा हो शायद 2 साल के अंदर बहुत सारे काम किए हो जनता को आकर्षित किया  हो जिस कारण की सरकार बन भी सकती है लेकिन जनता है यह सब जानती है यह जानती है कि यह आप पार्टी सरकार कम चलाती है नरेंद्र मोदी को ज्यादा कोसती है ,अपने कार्यों पर कम ध्यान देती है अमित शाह नरेंद्र मोदी की तरफ ज्यादा ध्यान देती है ।जिसके कारण अपनी सरकार को भूलकर एक दूसरे के ऊपर छींटाकशी करने की जो नेट चला रहे हैं, उसके तहत तो लगता है कि दिल्ली में जो भी बड़ा फैसला आएगा वह बहुत ही अचंभित करने वाले होंगे और मेरा मानना है मेरा गणित कह रहा है कि दिल्ली में 40 सीटों के लगभग भारतीय जनता पार्टी पा सकती है। और एक भाजपा की सरकार बनने की उम्मीद हमारे भविष्यवाणी से लगती है, कि भाजपा की सरकार और सबसे बड़ी पार्टी दिल्ली में होगी।

No comments