Latest News

गुणो की खान है ब्रोकली, हफ्ते में एक बार जरूर ले

जिले के सातो विकासखण्डो में बढ़ावा देंगे इसकी खेती को 

हमीरपुर, महेश अवस्थी । कृषि विज्ञान केन्द्र कुरारा हमीरपुर के वैज्ञानिको ने ब्रोकली सब्जी के ट्रायल लगाये थे जो सफल रहे। अब जिले के सातो विकास खण्डों में ब्रोकली की सब्जी को बढावा दिया जायेगा। वैज्ञानिक डा0 फूलकुमारी ने बताया कि पोषक तत्वो की दृष्टि से ब्रोकली बहुुत ही फायदेमंद सब्जी है। इस गहरी सब्जी को पकाकर या कच्चा भी खाया जा सकता है। जिसमंे लोहा,प्रोटीन, कैल्सियम कार्बोहाइडेªेट, क्रोमियम, विटामिन सी का बहुत बड़ा श्रोत है। ब्रोकली को नियमित खाने से गर्भवती महिलाओं को मदद मिलती है। इसमें फोलेट का 
ब्रोकली की फसल का निरीक्षण करते वैज्ञानिक
अच्छा श्रोत है जो भू्रड में मस्तिष्क संबंधी दोषो को रोकने मे मदद करती है। इसको सुपरफूड के नाम से भी जाना जाता है। कृषि वैज्ञानिक डा0 एसपी सोनकर ने बताया कि ब्रोकली की सब्जी में फाइटोकेमिकल्स और एंटी आक्सीडेंट के गुण भी पाये जाते है। जो शरीर को बामीरियों से लड़ने की क्षमता प्रदान करते है। कैंसर जैसी भयंकर बीमारी को नियंत्रण करने मे सहायक होती है। इसीलिए इससे एंटीकैंसर न्यूट्रीशनल वेजीटेबल के नाम से जाना जाता है।  ब्रोकली में  बीटा कैरोटीन होता है जो आंखों में मोतियांबिन्दु और मस्कुलर डीजनरेसन होने से रोकती है। सल्फोरापेन तत्व होता है जो यूवी रेडियेशन के कारण होने वाले प्रभाव से त्वचा को नुकासन पहुंचाने और सूजन को कम करने मे सहायक होता है। क्रोमियम का भी अच्छा श्रोत है जो मधुमेह पर नियंत्रण और शरीर में इंसुलिन के उत्पादन को नियंत्रित करता है। ब्रोकली  में कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम और जिंक होने से हड्डियां मजबूत बनती है आयरन और फोलेट की अच्छी मात्रा होती है जो एनीमियां और एल्जाइमर से बचाती है। डा0 शालिनी ने सलाह दिया कि सभी व्यक्तियों को एक सप्ताह में दो बार ब्रोकली को अपने आहार में शामिल करना चाहिए ताकि शरीर को आवश्यक पोषक तत्व के जरियें मजबूत रखा जा सके। 

No comments