Latest News

भोर हुई तो झूमकर बरसी बरखा रानी, मौसम हुआ ठंडा

मंगलवार की शाम को तेज हवाओं के झांेकों के साथ बदला था मौसम 
बुधवार को दिन में भी रुक-रुककर कई बार होती रही बूंदाबांदी 
एकबारगी बदले मौसम के मिजाज से ठंड में हुआ इजाफा 
चार डिग्री से नीचे लुढ़का पारा, तापमापी सुई 20 डिग्री पर पहुंची 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । मंगलवार की शाम से ही ठंडी हवाओं के झोंके चलने लगे थे। इससे यह समझा जा रहा था कि बुधवार की सुबह मौसम का मिजाज बिगड़ सकता है और हुआ भी ऐसा ही। बुधवार की सुबह आसमान पर छाए काले-भूरे बादलों ने गरज और लपक के साथ बारिश कर दी। काफी देर तक झमाझम बारिश होने के कारण मौसम पूरी तरह से ठंडा हो गया। तेज हवाओं के झोंकों के कारण जहां गलन में इजाफा हुआ वहीं बिजली आपूर्ति भी ठप कर दी गई। तकरीबन एक घंटे के बाद बिजली आपूर्ति शुरू हो सकी। ठंड से बचने के लिए लोगों ने एक बार फिर से अलाव का सहारा लिया। 
बारिश के बीच छतरी लगाकर स्कूल जाते बच्चे
सोमवार और मंगलवार को धूप खिलने से ठंड का असर काफूर नजर आ रहा था। धूप सेंकने के लिए लोग अपने घरों के बाहर, छतों और सड़कों पर घूमते फिरते नजर आए। लेकिन मंगलवार की शाम होते ही अचानक मौसम का मिजाज बदल गया और ठंडी हवाओं के झोंके चलने लगे। मौसम का मिजाज देखकर लोगों को यह आभास हो रहा था कि बुधवार की सुबह निश्चित तौर पर मौसम का मिजाज बदल जाएगा। बुधवार की सुबह जब लोग अपने घरों के अंदर थे, तभी आसमान पर छाए काले और भूरे बादलों ने अचानक गरज और लपक के साथ बारिश का सिलसिला शुरू कर दिया। काफी देर तक तेज बारिश होती रही। तमाम गलियों पर पानी भर गया। ठंडी हवाओं के झोंके चलने के कारण ठंड में एकबारगी इजाफा हो गया। ऐसे में लोगों को बेहद मुश्किलों का सामना करना पड़ा। लोगों ने ठंड से बचने के लिए फिर से अलाव का सहारा लिया। मौसम का मिजाज बदलने के साथ ही तापमापी पारे की सुई भी सीधे चार डिग्री नीचे लुढ़क गई। अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस अधिकतम रेकार्ड किया गया। लगातार बढ़ती जा रही गलन के कारण लोगों को एक बार फिर से परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। गौरतलब हो कि सोमवार और मंगलवार को निकली तल्ख धूप ने लोगों को ठंड से राहत दी थी। कड़ाके की ठंड से जूझ रहे लोगों ने दो दिनों तक धूप का आनंद लिया तो अब एकबारगी मौसम ने फिर से पलटी मार दी। लेकिन सुबह और शाम अब भी ठंड अपना एहसास करा रही है।

No comments