पीड़िता को इंसाफ की जगह पुलिस ने परिवार को भेजा जेल - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Sunday, January 12, 2020

पीड़िता को इंसाफ की जगह पुलिस ने परिवार को भेजा जेल

भाजपा विधायक के ड्राइवर पर नाबालिग के साथ हुई घटना का प्रियंका गांधी ने लिया संज्ञान
कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने पीड़िता से मिलकर हर सम्भव मदद का दिया आश्वासन

फतेहपुर, शमशाद खान । सत्तापक्ष के विधायक के ड्राइवर द्वारा छेड़छाड़ का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। छेड़छाड़ के मामले में विरोध करने पर विधायक के ड्राइवर द्वारा पीड़ित लड़की के घरवालों के साथ ही मारपीट कर दी गयी। वही जब पीड़ित पक्ष शिकायत करने थाने पहुंचा तो कार्रवाई की जगह सत्ता पक्ष के दबाव में आकर 
पीड़ित परिवार से मिलता कांग्रेस का प्रतिनिधि मण्डल।
पुलिस ने लड़की के परिवार के चार सदस्यों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करके जेल भेज दिया। छेड़छाड़ का मामला हाईलाइट होने के बाद कांग्रेस महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने नाबालिग लड़की के साथ छेड़छाड़ किये जाने व पुलिस द्वारा न्याय करने की जगह पीड़िता के घर वालो को जेल भेजे जाने की घटना का संज्ञान लेते हुए तत्काल जिला कांग्रेस कमेटी को पीड़िता के परिवार वालों से मिलकर मामले की जानकारी करने के लिये निर्देशित किया गया था। आलाकमान के निर्देश मिलते ही सक्रिय हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रतिनिधण्डल जिलाध्यक्ष अखिलेश पाण्डेय के नेतृत्व में पीड़िता से मिला उसे हर सम्भव मदद का आश्वासन दिया। पीड़िता का बयान लेने के बाद आलाकमान को अवगत करा दिया। आलाकमान को कांग्रेस कार्यकर्ताओ द्वारा अवगत कराया गया कि सत्ता पक्ष के विधायक के ड्राइवर द्वारा नाबालिग छात्रा के साथ लगातार छेड़छाड़ की जा रही थी। जिससे लड़की ने स्कूल आने जाने का रास्ता भी बदल दिया था लेकिन विधायक का ड्राइवर लगतार छेड़छाड़ करता रहा। पीड़ित लड़की में जब अपने परिजनों को जानकारी दी तो परिवार शिकायत के लिये विधायक आवास पहुंचा जहाँ ड्राइवर ने लड़की के परिजनों से मारपीट कर दी। जब परिजनों ने कोतवाली पुलिस में शिकायत दर्ज करानी चाही तो कार्रवाई की जगह सत्ता पक्ष का मामला होने के कारण पुलिस ने उल्टे पीड़िता के चार परिजनों के विरुद्ध अलग-अलग धाराओ में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया।  कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने आलाकमान को अवगत कराते हुए पुलिस प्रशासन पर सत्ता पक्ष के दबाव में काम करने व पीड़ितो का फर्जी मेडिकल रिपोर्ट बनवाने का आरोप लगाया। प्रतिनिधिमंडल में वरिष्ठ अधिवक्ता सन्तोष कुमारी शुक्ला, शहर अध्यक्ष मोहसिन खान, सुधाकर अवस्थी, शिक्षा सिंह गौतम, बीरेंद्र सिंह चैहान, पंकज गौतम, उदित अवस्थी, आशुतोष पाण्डेय, विनय द्विवेदी, सभासद विनय तिवारी आदि रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages