Latest News

विकास कार्यों को गति दें नोडल अधिकारी: डीएम

अनुपस्थित अधिकारियों से मांगा स्पष्टीकरण
बैठक कर अधिकारियों को दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। गत दिवस जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में आईजीआरएस, स्वच्छ भारत मिशन, गौशाला के संचालन सहित अन्य विकास कार्यों से संबंधित बैठक संपन्न हुई।
जिलाधिकारी ने बैठक में परियोजना प्रबंधक जल निगम, जिला खादी ग्रामोद्योग अधिकारी, ग्रामीण अभियंत्रण सेवा के सहायक अभियंता तथा अवर अभियंता के उपस्थित न होने पर जवाब तलब करने के निर्देश संबंधित अधिकारी को दिए। विकास खण्ड मानिकपुर के ग्राम पंचायत अमचुर नेरूआ के वर्तमान सचिव व पूर्व सचिव द्वारा ग्राम पंचायत के अभिलेख के आदान-प्रदान न करने पर स्पष्टीकरण मांगा है। उन्होंने गौशाला संचालन पर कहा कि यहां पर कोई समस्या हो उसका समाधान करा लंे। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी से कहा कि सभी गौशालाओं के फोटोग्राफ्स लेकर पत्रावली पर रखें। निजी स्थानों पर जहां पर अस्थाई गौशाला का निर्माण किया गया है वहां पर जो कार्य शेष है उसमें मनरेगा योजना से कार्य कराया जाए और उन गांव पर उप

जिलाधिकारियों से संपर्क कर सरकारी जमीन का चिन्हांकन कराया जाए। अगर जिस गांव में सरकारी जमीन न उपलब्ध हो तो उसकी अगल-बगल की ग्राम पंचायतों में व्यवस्था कराई जाए। गौशालाओं में टीनश्शेड का जो निर्माण कराया जा रहा है उसमें घटिया सामग्री नहीं लगना चाहिए। सचिवों को निर्देश दिए कि एक सप्ताह के अंदर गौशाला की सभी व्यवस्थाएं पूर्ण करें। ब्लॉक के नोडल अधिकारी क्षेत्रों का भ्रमण कर सभी विकास कार्यों को गति प्रदान कराएं। सचिवों से कहा कि क्षमता से अधिक गौशालाओं पर गोवंश न रखें। गोवंश की सुपुर्दगी की प्रगति ठीक नहीं है। इस पर प्रभावी कार्यवाही हो। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी से कहा कि ब्लॉकवार जो लक्ष्य दिया गया है उसको पूर्ण कराएं। गोवंश के भरण पोषण पर विशेष ध्यान दें। गोवंश को पराली के अलावा हरा चारा भी खिलायें। हर वर्ग के अनुसार गौवंशों की व्यवस्था करें। टैग लगा जानवर किसी भी दशा में सड़क पर घूमते नहीं मिलना चाहिए। जहां पर पर पशु चिकित्सा अधिकारी न जाएं तो उसकी सूचना दें। उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। किसी भी दशा में गोवंश की मृत्यु नहीं होनी चाहिए। भरण-पोषण की धनराशि का उपयोग करें और धनराशि की मांग की जाए। गौशालाओं पर विद्युत व्यवस्था कराई जाए। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी से कहा कि गौशालाओं की सूची अधिशाषी अभियंता विद्युत तथा जल निगम व जल संस्थान को भी उपलब्ध कराएं। सचिवों से कहा कि विद्यालयों के कायाकल्प पर कार्य तत्काल शुरू करा दें और उसमें खण्ड विकास अधिकारी तथा सहायक विकास अधिकारी पंचायत प्रतिदिन समीक्षा करें कि विद्यालयों पर क्या कार्य होना है। जिसका विवरण साप्ताहिक समीक्षा बैठक में रखें। उप जिलाधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी प्रेरणा एप को तहसील व ब्लाक स्तर पर भी लागू करें। कन्या सुमंगला योजना पर कहा कि जिनके यहां आवेदन पत्र लंबित है उनका तत्काल निस्तारण किया जाए। कहा कि जिन परिवारों पर दो बच्चे हैं उनका चिन्हांकन करा लिया जाए और उसकी सूची जिला प्रोबेशन अधिकारी को उपलब्ध कराएं। उन्होंने पेंशन योजनाओं पर कहा कि जो आवेदन पत्र लंबित है उनका तत्काल निस्तारण करें। रूबन मिशन योजना के अंतर्गत जिन विभागों द्वारा कार्य कराया जाना है उसकी सूची अभी तक प्राप्त नहीं हुई वह तत्काल उपलब्ध करा दें। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतें। खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि उप जिलाधिकारियों से संपर्क कर गांववार खेल के मैदान को चिन्हित करा लें। स्कूल के आसपास अगर सरकारी जमीन है तो उसे अवश्य लें। चारागाह की जमीनों का भी चिन्हांकन करा कर उसमें सुन्दरीकरण का कार्य कराया जाए। उप जिलाधिकारी मऊ को निर्देश दिए कि स्टेडियम व मिनी स्टेडियम बनाया जाना है। जगह देखकर कार्य को प्रारंभ कराया जाए। उन्होंने आईजीआरएस की समीक्षा पर सभी अधिकारियों को निर्देश दिए की कोई भी समस्या लंबित नहीं रहना चाहिए। शासन की मंशा के अनुरूप गुणवत्ता युक्त निस्तारण कराया जाए। कोई भी मामला डिफाल्टर न रहे। उन्होंने सहायक विकास अधिकारी पंचायतों को निर्देश दिए तीन दिन के अंदर कार्य को प्रारंभ करें। सीएफएमएस प्रणाली को ग्राम पंचायतों पर लागू कर अगले सप्ताह तक सभी ग्राम पंचायतों पर राज्य तथा चैदहवां वित्त की धनराशि से कार्यों को गति प्रदान करते हुए स्वच्छ शौचालय पर फोटो अपलोडिंग का कार्य तीन दिन के अंदर कराएं। जीपीडीपी योजना पर जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिए कि प्रतिदिन समीक्षा करें। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि विकास कार्यों पर तेजी लाकर शासन की मंशा के अनुरूप सभी विकास कार्य कराए जाएं। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा महेंद्र कुमार, अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा विनोद कुमार, जिला विकास अधिकारी आरके त्रिपाठी, परियोजना निदेशक अनय कुमार मिश्रा, उप जिलाधिकारी राजापुर राहुल कश्यप, मऊ राजबहादुर, मानिकपुर संगम लाल, जिला पंचायत राज अधिकारी राजबहादुर सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

No comments