शिक्षणेत्तर कर्मियों की भर्ती पर लगी रोक हटाई जाए - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, January 9, 2020

शिक्षणेत्तर कर्मियों की भर्ती पर लगी रोक हटाई जाए

पुरानी पेंशन योजना को बहाल किए जाने क मांग 
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

बांदा, कृपाशंकर दुबे । पुरानी पेंश योजना बहाल करने व शिक्षणेत्तर कर्मियों की भर्ती पर लगी रोंक को हटाने के लिये गुरूवार को उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ ने जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर कार्यवाही किये जाने की मांग की है। उन्होने बताया कि समस्याओं का निस्तारण न होने से माध्यमिक शिक्षकों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
डीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री के भेजे गये ज्ञापन में माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने बताया कि हमारी मांगे लम्बे समय से लम्बित चली जा रही है। सरकार के समक्ष धरना प्रदर्शन व घेराव आदि
कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन करते शिक्षक 
करने के बाद भी पूरी नही हुई है। जिससे शिक्षा जगत में समस्यायें बढ़ती जा रही है। उन्होने मांग की है कि उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड इलाहाबाद भंग न किया जाये तथा उत्तर प्रदेश शिक्षा सेवा चयन आयोग विधेयक 2019 धारा 18 संशोधित की जाये। वित्तविहीन मान्यता की धारा 7 क (क) को 7(4) में परिवर्तन सेवा दशा तथा मानदेय व वेतन का निर्धारण किया जाये। पुरानी पेंशन को बहाल करने के साथ साथ अद्यतन कार्यरत तदर्थ शिक्षकों को विनियमितीकरण किया जाये। सभी शिक्षकों एवं कर्मचारियों को चिकित्सीय सुविधा मुहैया करााई जाये। टास्कफोर्स द्वारा कराई गई जनशक्ति निर्धारण की प्रक्रिया को वापस किया जाये और विषय विशेषज्ञों को सेवा का लाभ दिया जाये। व्यवसायिक एवं कम्प्यूटर अनुदेशकों का शिक्षक पदों पर समायोजन किया जाये और माध्यमिक शिक्षा परिषद के मूल्यांकन एवं निरीक्षण आदि के पारिश्रमिकों को सीबीएससी के बराबर वृद्धि तथा अवशेषों का भुगतान कराया जाये। जिससे माध्यमिक शिक्षकों को परेशानियों का सामना नही करना पडे। इस दौरान दिनेश कुमार आर्य, श्रवण कुमार, देव कुमार, अवधेश वर्मा, रामकरन वर्मा, सत्यस्वरूप् राही, अमर सिंह, इन्द्रजीत सिंह, आर चन्द्रा, इन्द्रकुमार आदि उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages