Latest News

पीपल का पेड़ हाईवे पर गिरा, लगा जाम

तकरीबन छह घंटे तक बाधित रहा आवागमन 
दूसरे रास्तों से आवागमन करने को मजबूर रहे लोग 
वन विभाग ने मशीन से काटा पेड़, हटाई लकड़ी 
बिजली आपूर्ति भी ठप, मरम्मत का कार्य जारी 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । सोमवार की सुबह नेशनल हाइवे पर रोडवेज के समीप भारी भरकम पीपल का पेड़ अचानक उखड़कर सड़क पर जा गिरा। मौके पर मौजूद रहे लोगों के मुंह से सिर्फ हाय-हाय ही निकली और पूरा पेड़ सड़क पर नजर आया। इस हादसे में किसी को भी कोई चोट नहीं आई है। रास्ता जाम हो जाने की वजह से वाहन चालकों को दूसरे मार्गों से आवागमन करना पड़ा। खबर पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। वन विभाग के अधिकारी और कर्मचारी भी मौके पर पहुंचे। मशीनों के जरिए वन विभाग के कर्मचारियों ने पेड़ काटा और तकरीबन छह घंटे बाद हाइवे पर आगवामन शुरू हो सका। इलाके की बिजली आपूर्ति भी ठप रही। मरम्मत का कार्य जारी है।
शहर के रोडवेज बस स्टैंड से चंद कदम की दूरी पर लगा पीपल का तकरीबन सौ वर्ष पुराना भारी भरकम पीपल का पेड़ अचानक उखड़कर नेशनल हाइवे पर जा गिरा। नेशनल हाइवे पर पेड़ गिरने के दौरान आसपास मौजूद रहे लोगों के मुंह से सिर्फ हाय-हाय ही निकली। बाकी कोई कुछ कर नहीं सका। चंद मिनटों में पेड़ ने नेशनल हाइवे को पूरी तरह से जाम कर दिया। बिजली के तार और ट्रांसफार्मर के एंगल भी जमीन को चूमने लगे। दोनो ओर वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। बाद में धीरे-धीरे चैपहिया और दोपहिया वाहन चालक दूसरे रास्तों से गंतव्य के लिए रवाना हुए। जाम लगा होने की खबर पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंची, लेकिन जब पेड़ गिरा देखा तो वह भी तमाशबीन बन गई। आनन-फानन में वन विभाग के अधिकारियों को सूचना दी गई। वन विभाग के अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पहुंचे। बिजली के तारों को इधर-उधर कराने के बाद वन विभाग के कर्मचारियों ने मशीन के जरिए पेड़ को काटना शुरू किया। तकरीबन छह घंटे तक यह सिलसिला चला। जेसीबी मशीन को भी वन विभाग ने मौके पर बुलवाया था। लकड़ी को टुकड़ों में काटने के बाद जेसीबी मशीन के जरिए ट्रैक्टरों में लादा गया और वन विभाग ने सुरक्षित स्थान पर लकड़ी फिंकवाई। कुल मिलाकर छह घंटे तक आवागमन बाधित रहा। 

No comments