Latest News

स्वास्थ्य विभाग सुधारे रैकिंग: डीएम

सीएमओ व बाल विकास अधिकारी से मांगा जवाब

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में नीति आयोग के सूचकांकों की मासिक प्रगति समीक्षा बैठक संबंधित अधिकारियों के साथ संपन्न हुई।
जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य शिक्षा वन कृषि उद्यान बैंक पशु पालन, पंचायती राज दुग्ध बाल विकास इंटरनेट सेवाएं आदि विभागीय बिंदुओं की समीक्षा की। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि जनपद की रैंकिंग किसी भी दशा में कम नहीं होना चाहिए। जिन विभागों की प्रगति ठीक नहीं है तो संबंधित अधिकारी की जिम्मेदारी तय किया जाए और नीचे स्तर पर समीक्षा करें। प्रमुख चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि जो स्वास्थ्य विभाग के सूचकांकों में कमी हुई है उसे एक सप्ताह के अंदर ठीक कराएं। अगली बैठक में ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को भी बुलाया जाए। बाल विकास तथा स्वास्थ्य विभाग की प्रगति ठीक न होने पर उन्होंने
मुख्य विकास अधिकारी से कहा कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी और जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास को कारण बताओ नोटिस जारी किया जाए कि विभागीय कार्यों में रूचि क्यों नहीं ली गई। इसलिए जनपद की रैंकिंग में कमी आ रही है। जिला कृषि अधिकारी से कहा कि नीति आयोग से संबंधित सूचकांकों की समीक्षा संबंधित विभागों से प्रतिदिन करें। ताकि प्रगति हो सके। कायाकल्प के संबंध में कहा कि जिन विद्यालयों में 10 बिंदुओं पर कार्य कराया जाना है उनकी विद्यालयवार रिपोर्ट प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि जन कल्याणकारी योजनाओं के मेगा कैंप पंचायत स्तर पर लगाए जाएं ताकि विभागीय बिंदुओं की प्रगति ठीक हो सके।
जिला योजना से संबंधित बैठक में डीएम ने कृषि, पशु पालन, दुग्ध विकास, सहकारिता, वन, ग्राम विकास, आजीविका मिशन,  सिंचाई, मनरेगा, पंचायती राज, लघु सिंचाई, नलकूप, अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत, खादी ग्रामोद्योग, रेशम उद्योग, माध्यमिक शिक्षा, लोक निर्माण विभाग, पर्यटन, प्राविधिक शिक्षा, प्रादेशिक विकास दल, खेलकूद, एलोपैथी, परिवार कल्याण, होम्योपैथी, आयुर्वेद, यूनानी, ग्रामीण आवास, ग्रामीण स्वच्छता, पुल्ड आवास, पेयजल, अनुसूचित जाति कल्याण, पिछड़ा वर्ग कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण, समाज कल्याण, विकलांग कल्याण, महिला कल्याण, सेवा योजना, आईटीआई आदि विभिन्न विभागों के लक्ष्य की समीक्षा की। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए की वास्तविक लक्ष्य की रिपोर्ट उपलब्ध कराएं। ताकि जिला योजना की बैठक में निर्धारित कराते हुए शासन को भेजा जा सके। बैठक में अधिशासी अभियंता सिंचाई, निर्माण खंड, लघु सिंचाई, डीसी मनरेगा, खादी ग्रामोद्योग अधिकारी के उपस्थित न होने पर जवाब तलब करने के निर्देश संबंधित अधिकारी को दिए। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डॉ महेंद्र कुमार, प्रभागीय वन अधिकारी कैलाश प्रकाश, उप निदेशक कृषि टीपी शाही, जिला कृषि अधिकारी बसंत कुमार दुबे, जिला उद्यान अधिकारी रमेश कुमार पाठक, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर केपी यादव, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रकाश सिंह,  अर्थ एवं संख्या अधिकारी राजेश कुमार सहित संबंधित अधिकारी तथा पिरामल संस्था के लोग मौजूद रहे।

No comments