Latest News

एनिमिया जन स्वास्थ्य समस्या, इसे हरायेंगे: सीमओ

बीमारियों का घर है आयरन की कमी

हमीरपुर, महेश अवस्थी । एनिमिया मुक्त भारत अभियान को सफल बनाने के लिये कार्यशाला में सीएमओ डाॅ राजकुमार सचान ने कहा कि ऐनिमिया एक समस्या है। हर दूसरी महिला और बच्चा इससे पीड़ित है। किशोरावस्था में एनिमिया को दूर करने के लिये दूसरा महत्वपूर्ण अवसर है। किशोर, किशोरियों को स्कूल, कालेजो, आंगनबाड़ी केन्द्रों में जानकारी देकर जागरूक करने की जरूरत है। प्रत्येक सोमवार को स्कूल में

बच्चों को आयरन की गोलिया मिड्ड-डे-मील के बाद दी जाती हैं। नोडल अधिकारी डाॅ रामऔतार ने बताया कि दवा खाने के बाद किसी को कोई दिक्कत हो जैसे पेट फूलना, मितनी आना यह सामान्य प्रभाव हैं। इससे परेशान न हों। डाॅ आरके यादव, डाॅ महेशचन्द्रा, डाॅ आरपी वर्मा ने भी विचार रखे। डाॅ आशा सचान ने कहा कि बीमारियों का घर है आयरन की कमी। महिलाओं को माहवारी की वजह से हर महीने खून शरीर से निकल जाता है। जिसकी पूर्ति न होने पर आयरन की कमी होती है। परिणाम स्वरूप महिला सुस्त, सांस फूलने शिकार होती हैं। एनएफएचएस-4 के हिसाब से जिले में 15 से 49 वर्ष तक 51.8 फीसदी महिलायें एनमिक हैं। इस उम्र के 30 फीसदी पुरूष एनमिक हैं। वहीं बच्चों में छह माह से 59 माह तक 55 फीसदी बच्चे एनेमिया के शिकार हैं।

No comments