Latest News

अभिशाप नहीं सम्मान, माता-पिता की शान हैं बेटियां: मंत्री

पिंक कार्ड योजना का हुआ शुभारंभ
जनपद से जल्द शुरू होगी हवाई सेवाएं
उत्तर प्रदेश दिवस, राष्ट्रीय कन्या दिवस पर कार्यक्रम

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । नागरिक उड्डयन विभाग, राजनैतिक पेंशन, अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज विभाग मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी, लोक निर्माण विभाग राज्य मंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय, बांदा-चित्रकूट सांसद आरके सिंह पटेल, मानिकपुर विधायक आनन्द शुक्ला, अध्यक्ष नगर पालिका परिषद कर्वी नरेंद्र गुप्ता, आयुक्त चित्रकूटधाम मंडल बांदा गौरव दयाल, पुलिस उप महानिरीक्षक दीपक कुमार, जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय, मुख्य विकास अधिकारी डॉ महेंद्र कुमार की उपस्थिति में जगद्गुरु रामभद्राचार्य दिव्यांग विश्व विद्यालय सीतापुर के सभागार में महिला एवं बाल विकास विभाग के तत्वावधान में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय कन्या दिवस के अवसर पर जनपद की अभिनव योजना पिंक कार्ड का शुभारम्भ मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर किया।
प्रभारी मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नंदी ने कहा कि बेटियांे ने जिले का नाम रोशन किया है। इसके लिए सभी बधाई के पात्र हैं। जिला प्रशासन ने पिंक कार्ड योजना लागू कर अच्छी पहल की है। यह प्रदेश में एक वरदान साबित होगी। भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री ने महत्वाकांक्षी योजनाएं संचालित किया है। जिला नीति आयोग में चयनित है। इस पिंक कार्ड योजना से लाभ मिलेगा। उत्तर प्रदेश दिवस मनाया जा रहा है। सरकार के मार्च से तीन वर्ष पूरे होगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पहले किसी भी सरकार ने नहीं सोचा कि प्रदेश का स्थापना दिवस मनाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने सत्ता संभालते ही विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं को संचालित कर धरातल पर सुदूर गांव के क्षेत्र के अंतिम छोर के व्यक्ति तक पहुंचाने का कार्य कर रहे है। वर्ष 2014 में लोकसभा चुनाव आया और पहले भी सरकारें अपना व परिवारवाद की सोच थी। प्रधानमंत्री ने जो भी योजनाएं लागू किया है वह किसी जाति धर्म की नहीं है। सबका साथ सबका विकास व सबका विश्वास लेकर कार्य कर रहे हैं। चित्रकूट

में भी हवाई यात्रा जल्द शुरू हो रही है। देश व प्रदेश की भलाई के लिए प्रधानमंत्री तथा मुख्यमंत्री द्वारा लगातार कार्य किया जा रहा है। सब लोग बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का लाभ लें। पिंक कार्ड दिया जा रहा हैं। जनपद में 480 परिवार अभी चिन्हित किए गए हैं। जिन्हें सरकारी योजनाओं में लाभ प्राथमिकता के आधार पर दिया जाएगा। प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री ने विषैले पेड़ों को मिटाने का कार्य किया जा रहा है। जिसमें अन्य पार्टियों के लोग विरोध कर षड्यंत्र रच रही हैं। उनसे सख्ती से निपटना होगा और उन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बेटियां खुले आसमान की उड़ान है। बेटी मां-बाप की शान है। अगर मां-बाप न होते तो हम आप नहीं होते। मां बाप भगवान का रुप होते हैं। सदियों से भारत का इतिहास रहा है कोई संकट आए तो मां दुर्गा की उपासना हम लोग करते हैं। बेटियां अभिशाप नहीं सम्मान है। 
राज्य मंत्री लोक निर्माण विभाग चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय ने कहा कि राष्ट्रीय कन्या दिवस के अवसर पर महत्वपूर्ण कार्य हुआ है। कन्या को देवी के रूप में माना गया है। जब नवरात्रि का व्रत रखते हैं तो कन्या भोज जरूर कराते हैं। विवाह के समय कन्या का पैर पूजते हैं यह संस्कारों में है। मुख्यमंत्री ने सरकार बनते ही एंटी रोमियो स्क्वाड की व्यवस्था की। जिसमें बच्चियों के साथ कोई छेड़खानी न हो। कन्या सुमंगला योजना को लागू किया है। इसके अलावा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान भी चलाया है। बेटा तथा बेटी भगवान की देन है। इस तरह की कोई आचरण नहीं होना चाहिए जिससे समाज में भ्रम पैदा हो। जनपद में बेटियों का अनुपात बढ़े इस पर भी प्रभावी कार्रवाई करने की जरूरत है। यह धर्म नगरी है। भगवान राम की तपोस्थली है। यहां पर आज भी कन्या पूजन किया जाता है।
सांसद आरके सिंह पटेल ने कहा कि आजादी के 70 साल बाद आज बेटियों को बचाने की जरूरत क्यों पड़ी। यह एक बहुत महत्वपूर्ण विषय है। पहले एक बहुत बड़े तबके को शिक्षा से दूर किया गया। बेटी को पढ़ाया नहीं गया। समाज आगे न बढ़े इसलिए नारियों को शिक्षा से वंचित किया गया, लेकिन आज भाजपा सरकार में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मायने बदल दिया है। मानिकपुर विधायक आनंद शुक्ला ने कहा कि उत्तर प्रदेश का स्थापना दिवस मनाया जा रहा है यह गौरव की बात है। जब तक गंगा मां का अस्तित्व है तो बेटियों का सम्मान करना होगा। बुढ़ापे के समय कई उदाहरण है कि बेटे अपने मां-बाप को छोड़ देते हैं तो वह वृद्धा आश्रम की शरण लेते हैं लेकिन कोई बेटियां अपने मां बाप को घर से नहीं निकालती हैं। जो भावना बेटियों में होती है वह बेटों में नहीं। हमें सोचना चाहिए कि बुढ़ापे का सहारा बेटा नहीं बेटियां होंगी। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने प्रभारी मंत्री सहित सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि एक नई अभिनव योजना पिंक कार्ड लागू की गई है। इसमें जिला प्रशासन की टीम ने सोचा कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ को कैसे मूर्त रूप दिया जाए। यह जिला नीति आयोग में चयनित है। इस दिशा में भी काम किया जा रहा है। पिंक कार्ड योजना लागू की गई। जिसमें शिक्षा के क्षेत्र में बढ़ावा देने के लिए निजी क्षेत्रों के विद्यालयों के प्रधानाचार्य तथा प्रबंधकों के साथ बैठक कर इस अभियान को आगे बढ़ाने का काम किया गया है। जिसमें जनपद के पांच निजी विद्यालयों के प्रधानाचार्य प्रबंधक द्वारा कक्षा 8 तक के पिंक कार्ड धारकों के परिवारों के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा देने की बात कही है। जिन्हें सम्मानित भी किया गया है। कई विभागों की योजनाओं पर जनपद प्रदेश में प्रथम स्थान पर है। पुलिस विभाग आईजीआरएस के निस्तारण में कई माह अव्वल रहा है। मेरी छत मेरा पानी में जनपद को अवार्ड मिला है। जिला प्रोबेशन अधिकारी रामबाबू विश्वकर्मा ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर कहा कि यह एक सामाजिक योजना है। भारतीय समाज में लिंगानुपात के बढ़ते असंतुलन और महिलाओं के प्रति भेदभाव को दूर करने के उद्देश्य से की गई है। उन्होंने कन्या सुमंगला योजना के बारे में विस्तृत जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन शिक्षक साकेत बिहारी शुक्ल ने किया। परियोजना निदेशक डीआरडीए अनय कुमार मिश्रा ने आभार जताया। जिलाधकारी सहित प्रशासनिक अधिकारियों ने सभी अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर स्वागत किया। इस अवसर पर सीडीओ महेन्द्र कुमार, अपर पुलिस अधीक्षक बलवंत चैधरी, उप जिलाधिकारी कर्वी अश्वनी कुमार पाण्डेय आदि मौजूद रहे।
बाक्स-----------------
उत्कृष्ट कार्य पर हुए सम्मानित
चित्रकूट। प्रभारी मंत्री सहित सभी अतिथियों ने दिव्यांग विश्व विद्यालय परिसर में विभिन्न विभागों के लगाई गई जन कल्याणकारी योजनाओं की प्रदर्शनी का अवलोकन किया। हाई स्कूल, इंटरमीडिएट बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के अंतर्गत ग्राम पंचायतों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले ग्राम प्रधानों, पेंशन योजना के लाभार्थिया,ें विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं में सफलता हासिल करने वाले मेधावी छात्र-छात्राओं तथा अन्य लोगों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ शपथ व हस्ताक्षर अभियान पर सभी अतिथियों ने हस्ताक्षर भी किया।

No comments