Latest News

गुरुद्वारा पहुंच डीएम ने चादर और पुष्प अर्पित किए

एक सैकड़ा गेंदा और गुलाब के पौधों को प्रसाद के रूप में किया वितरित 
माता पिता की तरह पौधों की देखभाल करने की दी हिदायत 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । गुरू गोविन्द सिंह जयन्ती के शुभ अवसर पर पर्यावरण बचाने के लिए जिलाधिकारी हीरा लाल ने एक अनूठी पहल का शुभारम्भ पीली कोठी बांदा गुरूद्वारे में जाकर किया। उन्होंने चादर एवं पुष्प माला अर्पित कर वाहे गुरू का आशीर्वाद लिया तथा लगभग एक सैकड़ा गेंदे एवं गुलाब के पौधे प्रसाद के रूप में श्रद्धालुओं एवं बच्चो को वितरण किए। उनसे ये अपेक्षा किया कि इन पौधों की माता-पिता से भी ज्यादा इनकी देखभाल करना। क्योंकि माता-पिता के बिना तो हम लोग रह सकते हैं परन्तु पेड़ एवं पानी के बिना एक पल भी जीना मुश्किल है। इसीलिए इस अभियान की शुरूआत आज गुरू गोविन्द सिंह जयन्ती के अवसर पर उनके दरबार में आकर किया जा रहा है, क्योंकि प्रभु भी चाहते हैं कि जल और जंगल दोनो बरकरार रहें। क्यांेकि जलचक्र से ही प्रकृति का प्रबन्धन चलता है। जल जीवन का मुख्य घटक है। पेड़-पौधों से ही वाष्पीकृत जल ही बादल बन गगन में एकत्रित होता है और अमृत बन धरती की प्यास को शान्त करता हैं। इस प्रकार पेड़ और पानी के आपसी सम्बन्धों पर ही प्रकृति के पर्यावरण का प्रबन्धन कायम है जिसे हम सब लोंगो को समझना होगा और ज्यादा से ज्यादा वृक्षारोपण कर हरियाली का सन्देश देना होगा।
गुरुद्वारे में चादर और पुष्प् अर्पित करते जिलाधिकारी हीरा लाल
जिलाधिकारी ने कहा कि शुद्ध आक्सीजन हमें पौधों से ही प्राप्त होती है। इसीलिए पेड़ लगाओ अभियान नही, हम लोग पेड़ जियाओं अभियान चला रहे हैं। पिछले दिनों कई विद्यालयों के बच्चों के माध्यम से पेड़ जियाओं अभियान चलाया गया। सभी बच्चों को पेड़ वितरण किए गए और उसकी देखभाल करने की शपथ दिलायी गयी। अब जनपद के 22 मन्दिरों, 01 मस्जिद और आज गुरूद्वारे से पेड़ प्रसाद अभियान की शुरूआत कर दी गई है। अब जो भी मन्दिर, मस्जिद में श्रद्धालू आयेंगे, उन्हें प्रसाद के रूप में एक पौधा दिया जायेगा और उसे मन्दिर में चढाकर प्रसाद के रूप में दूसरा पौधा दिया जायेगा और उससे यह अपेक्षा होगी कि पर्यावरण को हरा-भरा बनाने के लिए पेड़ की देखभाल कर बड़ा करना होगा जिसमें हम सब लोंगो का जीवन निहित है। इससे पर्यावरण हमारा सन्तुलित रहेगा। हम देश के लिए ही नही बल्कि पूरे विश्व में यह मिशाल कायम करना चाहते हैं कि जनपद में अनेकों नवाचारी कार्यों के लिए जाना जाता है। उन्होंने कहा कि यदि कोई जनपद का आदमी अपने जन्म दिवस पर 100 पेड़ प्रसाद के रूप में वितरण कर लगायेगा यदि उसने जिलाधिकरी को आमंत्रित किया तो उसके यहां हमारा आगमन अवश्य होगा। इस कार्यक्रम में उपस्थित गुरूद्वारे के भगत अमरलाल, प्रभागीय वनाधिकारी संजय अग्रवाल, उप जिलाधिकारी सदर सुरजीत सिंह, जिला उद्यान अधिकारी परवेज खान, ईओ नगर पालिका संतोष मिश्रा, लीड बैंक मैनेजर अभिजीत कुमार, तहसीलदार सदर अवधेश निगम, अपर जिला सूचना अधिकारी शारदा, योगाचार्य रमेश सिंह राजपूत, योग प्रशिक्षक रमेशचन्द्र सिंह राजपूत सहित सम्बन्धित अधिकारी एवं भक्तगण उपस्थित रहे। 

No comments