हिन्दुओं की आस्थाओं को अपमानित करने के विरोध में विहिप का प्रदर्शन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Friday, January 10, 2020

हिन्दुओं की आस्थाओं को अपमानित करने के विरोध में विहिप का प्रदर्शन

फतेहपुर, शमशाद खान । आंध्र प्रदेश व तेलंगाना में हिन्दुओं की आस्थाओं को अपमानित करने का षड़यंत्र एवं मुस्लिम व ईसाई तुष्टिकरण के लिए अपनाई जा रही भेदभाव पूर्ण नीतियों के विरोध में शुक्रवार को विश्व हिन्दू परिषद एवं बजरंग दल के पदाधिकारियों ने प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रपति को सम्बोधित एक ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा। जिसमें मांग की गयी कि राष्ट्रपति संविधान प्रदत्त शक्तियों का उपयोग कर आंध्र प्रदेश व तेलंगाना सरकार की इन भेदभावपूर्ण व हिन्दू दमनात्मक नीतियों पर रोक लगवाई जाये। 
ज्ञापन देने जाते विश्व हिन्दू परिषद के पदाधिकारी।
विश्व हिन्दू परिषद एवं बजरंग दल के प्रान्त महामंत्री वीरेन्द्र पाण्डेय की अगुवई में पदाधिकारी व कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट पहुंचे और राष्ट्रपति को सम्बोधित एक ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपकर बताया कि आंध्र प्रदेश व तेलंगाना सरकारें विगत कई वर्षों से मुस्लिम व ईसाई समाज का तुष्टीकरण कर उनका वोट बैंक बनाने हेतु कई प्रकार की भेदभावपूर्ण नीतियां लागू कर रही है। इनमें से कई नीतियां तो संविधान विरोधी भी हैं और कई न्यायपालिकाओं द्वारा अस्वीकृत भी की जा चुकी है। धार्मिक आधार पर आरक्षण बार-बार संविधान विरोधी सिद्ध होने के बावजूद ये अल्पसंयकों को आरक्षण देने के लिए कई प्रकार के मार्ग निकालने का प्रयास कर रहे हैं। चर्च व मस्जिदों के निर्माण हेतु सरकारी कोष लुटाया जा रहा है। विहिप ने इन सरकारों पर मौलवी व पादरियों के माध्यम से धर्मान्तरण कराने का भी आरोप लगाया। कहा कि तिरूपति के नियमों का उल्लंघन कर गैर हिन्दू का जबरन प्रवेश कराकर वे इस मंदिर की पवित्रता को भंग कर रहे हैं। अल्पसंख्यकों के आवास एवं विकास के लिए मंदिरों की हजारों एकड़ भूमि नियमों व न्यायालयों के निर्णयों के विरूद्ध सरकार द्वारा हड़पा जाना निरंतर चल रहा है। ऐसे कई और भी षड़यंत्र हैं जिनके कारण हिन्दू समाज आहत है। मांग किया कि राष्ट्रपति संविधान में प्रदत्त शक्तियों का उपयोग कर आंध्र प्रदेश व तेलंगाना सरकार की इन भेदभावपूर्ण व हिन्दू दमनात्मक नीतियों पर रोक लगाये। जिससे इन प्रदेशों के हिन्दुओं को सम्मानपूर्वक अपनी आस्थाओं का पालन करते हुए जीने का अधिकार दिलवाया जा सके। इस मौके पर अजीत विद्यार्थी, जीतू हयारण, आनन्द तिवारी, मनीष गुप्ता, कामता प्रसाद गुप्ता, शानू सिंह, मिन्टू सोनी, आशीष गुप्ता, शिवस्वरूप विश्वकर्मा, मोनू अवस्थी, उमाशंकर त्रिपाठी, डा0 विजय शंकर मिश्र, राजकमल मौर्य आदि मौजूद रहे। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages