Latest News

नहीं रहे पूर्व विधायक रामेश्वर भाई, कांग्रेसियों में शोक

27 वर्षों तक कांग्रेस जिलाध्यक्ष के रूप में निभाई जिम्मेदारी 
आज हरदौली घाट मुक्तिधाम में होगा अंतिम संस्कार 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । 27 वर्षों तक कांग्रेस के जिलाध्यक्ष के तौर पर कांग्रेस की बागडोर संभालने वाले पूर्व विधायक रामेश्वर भाई का शुक्रवार को निधन हो गया। उनके निधन की खबर पाकर कांग्रेसियों में शोक की लहर दौड़ गई। उनके निधन की खबर मिलते ही कांग्रेसियों का उनके घर में जमावड़ा लग गया। शनिवार को हरदौली घाट मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार किया जाएगा। 
पूर्व विधायक रामेश्वर भाई (फाइल फोटो)।
27 वर्षों तक कांग्रेस के जिलाध्यक्ष रहे पूर्व विधायक रामेश्वर भाई किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। वह वर्ष 1980 से लेकर 1985 तक बबेरू विधानसभा से विधायक रहे और वर्ष 1974 से 2001 तक लगातार कांग्रेस के जिलाध्यक्ष रहकर संगठन की बागडोर संभाली। वह दो बार लोकसभा के चुनाव में भी अपनी किस्मत आजमा चुके हैं, लेकिन सफलता नहीं मिली। उनके निधन की खबर पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजेश दीक्षित दुखी मन से कहते हैं कि कांग्रेस ने एक महान योद्धा को खो दिया है, जिसकी भरपाई होना असंभव है। श्री दीक्षित समेत सभी कांग्रेसियों के लिए श्री प्रसाद वयोवृद्ध होने के बाद भी लगातार कांग्रेस के प्रति समर्पित रहे और नियमित रूप से कांग्रेस कार्यालय पहुंचकर कांग्रेस का काम करते रहे। हालांकि इधर बीते तीन माह से वह बीमार चल रहे थे और घर पर ही रहकर इलाज करा रहे थे। लेकिन कांग्रेस के प्रति समर्पण की भावना उनके मन से नहीं गई और वह कांग्रेसियों को अपने घर बुलाकर मार्गदर्शन करते रहते थे। उनके निधन पर जिले के कांग्रेसियों समेत सभी राजनीतिक दलों के लोगों में शोक की लहर व्याप्त है। उनका अंतिम संस्कार शनिवार को शहर के हरदौली घाट मुक्तिधाम में सुबह 10 बजे किया जाएगा।

No comments