सामूहिक अवकाश लेकर शिक्षकों ने अधिकारो के लिये भरी हुंकार - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Wednesday, January 22, 2020

सामूहिक अवकाश लेकर शिक्षकों ने अधिकारो के लिये भरी हुंकार

सीएम को 15 सूत्रीय मांग पत्र भेजकर समस्याओ के निस्तारण की मांग 

फतेहपुर, शमशाद खान । उत्तर प्रदेश शिक्षक महासंघ के प्रांतीय आह्वान पर अपनी मांगों एव समस्याओ को लेकर जनपद के शिक्षकों ने मंगलवार को एक दिवसीय सामूहिक अवकाश पर रहकर धरना दिया। तत्पश्चात कलक्ट्रेट पहुंचकर मुख्यमंत्री को सम्बोधित 15 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन भेजकर समस्याओ के निस्तारण की मांग किया।
नहर कालोनी में धरना देते शिक्षक।
उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह के नेतृत्व में प्राथमिक व उच्च प्राथमिक शिक्षकों ने नहर कालोनी में एक दिवसीय धरना देते हुए अपनी मांगों एव समस्याओं को लेकर सरकार पर जमकर भड़ास निकाली और मांगो को पूरी न होने की दशा में बड़े आंदोलन करने पर बाध्य बताया। धरने के पश्चात शिक्षक कलेक्टरेट पहुँचे जहां जिलाधिकारी के मध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर उनकी मांगों को पूरी किये जाने की मांग किया। सीएम को भेजे मांग पत्र में एक अप्रैल 2005 के पूर्व लागू पुरानी पेंशन को बहाल किये जाने, प्रत्येक परिषदीय विद्यालयों में पांच शिक्षक व एक प्रधानाचार्य जबकि उच्च प्राथमिक विद्यालय में तीन शिक्षक व एक प्रधानाचार्य के पद पर नियुक्ति, जबकि प्राथमिक विद्यालयों में लिपिक एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी नियुक्त किये जाने, परिषदीय विद्यालयों के प्रधानाचार्यो के समाप्त किये गए पदों को बहाल करने, एक ही परिसर में संचालित प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों के संविलियन को रोके जाने, शीघ्र ही अंतर्जनपदीय स्थानानन्तरन शुरू करने, वेतन विसंगतियों को दूर करने एव पूर्व की भांति मृतक आश्रितों की नियुक्ति बहाली आदि मांगे शामिल रहीं। इस मौके पर संयोजक आलोक शुक्ल, अमित द्विवेदी, विजय त्रिपाठी, अनुराग मिश्रा, धीरेंद्र सिंह, शैलेन्द्र भदौरिया, लाल देवेन्द्र प्रताप सिंह, धर्मेंद्र सिंह गुड्डू, हर्षवर्धन, बलराम, लतापुरी गोस्वामी, संगीता सचान, शहाना सचान, सारिका तिवारी, कविता, अंजू सिंह, मीनाक्षी श्रीवास्तव, मीना बाजपई समेत बड़ी संख्या में शिक्षक एव शिक्षिकायें मौजूद रही।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages