Latest News

मेहनत करने से मिलेगा मुकाम: महेंद्र बहादुर

राजकीय पुस्तकालय का सपत्नीक मैनपुरी डीएम ने किया शिलान्यास 
महेंद्र बहादुर ने पुस्तकालय में फ्री खुलवाई थी यूपीएससी एवं सिविल सर्विसेज कोचिंग 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । 2012 से संचालित राजकीय जिला पुस्तकालय का शिलन्यास बुधवार को वर्तमान में मैनपुरी के डीएम और जनपद के पूर्व जिलाधिकारी महेंद्र बहादुर सिंह ने सपत्नीक आकर किया। छात्र एवं छात्राओं से संवाद कार्यक्रम स्थापित हुआ। क्योंकि प्रेरणा श्रोत महेन्द्र बहादुर सिंह ने पुस्तकालय में यूपीएससी एवं सिविल सर्विसेस की कोंचिग फ्री खुलवाई थी और स्वयं शिक्षक बनकर छात्र-छात्राओं का मार्गदर्शन करते थे, जो कि अपने आप में बहुत प्रशंसनीय कार्य है। 
पुस्तकालय में मंचासीन मैनपुरी डीएम महेंद्र बहादुर और उनकी पत्नी साथ में जिलाधिकारी हीरा लाल
डीएम महेंद्र बहादुर सिंह ने छात्र एवं छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि किसी भी कार्य को सफलता पूर्वक करने के लिए निचले स्तर से शुरूआत करनी चाहिए, जिससे सफलता हासिल की जा सके। वहां छात्र-छात्राओं ने विभिन्न प्रकार के सवाल एवं जवाब किये और टाइम मैनेजमेंट कैसे किया जाए तो उनके जवाब में बताया गया कि टाइम मैनेजमेंट करना प्रत्येक व्यक्ति की जिम्मेदारी होनी चाहिए। क्योंकि जिन्दगी में कुछ करने के लिए टाइम का मैनेजमेंट होना बहुत ही आवश्यक है, अन्यथा सब बेकार है। उन्होंने छात्र- छात्राओं को सफलता के टिप्स देते हुए बताया कि यूपीएससी की परीक्षाओं में प्रतिभाग करने के लिए सर्वप्रथम कक्षा 01 से 12 तक की हिन्दी/अग्रेंजी एनसीआरटी पुस्तकों का अध्ययन करना चाहिए और जिस प्रतियोगिता परीक्षा में प्र्रतिभाग करने जा रहे हैं उसके स्लेबस को डायरी में नोटकर और उससे रिलेटेड पिछले पांच वर्षों के साल्व
 मौजूद छात्र-छात्राएं
पेपर्स साल्व करने चाहिए और फिर उसी हिसाब से मिलान करके अपनी स्टडी प्रारंभ करनी चाहिए। इससे परीक्षा में सफलता प्राप्त की जा सके। उन्होंने कहा कि लाइबे्ररी में आकर ग्रुप डिस्कशन करें जिससे नालेज क्षमता में वृद्धि होगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के दिशा निर्देश हैं कि हर ग्राम पंचायत में एक लाइबे्ररी होना चाहिए और ई-पाठशाला में 01 से 12 तक एनसीआरटी की व्यवस्था भी छात्र एवं छात्राओं को स्वयं के खर्चे से निर्वहन करना चाहिए। क्योंकि जब बेस मजबूत होता है, तब ही ऊंचाइयों को छुआ जा सकता है। उन्होंने कहा कि आत्म विश्वास मजबूत होना चाहिए किसी के ऊपर दोषारोपण नही करना चाहिए, पहले स्वयं की कमियों को देखना चाहिए इसके बाद सुधार करना चाहिए क्योंकि जितनी ज्यादा मेहनत आप लोग करेंगे उतना ही अच्छा मुकाम हासिल होगा। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती जी की प्रतिमा पर पुष्पमाला अर्पित कर एवं दीप
पुस्तकालय का शिलान्यास करते डीएम महेंद्र बहादुर और डीएम हीरा लाल
प्रज्वलन कर किया गया इसके बाद छात्र-छात्राओं के द्वारा सरस्वती वन्दना प्रस्तुत की गयी। वर्तमान जिलाधिकारी एवं पूर्व जिलाधिकारी को पुष्पमाला एवं पुष्प गुच्छ भेंटकर स्वागत किया गया। इस कार्यक्रम में उपस्थित नगर मजिस्टेªट सुरेन्द्र सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक विनोद सिंह सहित सभी विद्यालयों के प्रधानाचार्य एवं छात्र-छात्रायें उपस्थित रहे। इधर, जिलाधिकारी हीरा लाल ने मैनपुरी डीएउम का स्वागत करते हुए कहा कि आज ये लाइबे्ररी जो संचालित है इसका श्रेय महेन्द्र बहादुर को जाता है। इनके प्रयास से ही यहां बच्चे फ्री कोंचिग का लाभ ले रहे थे यह बहुत ही सराहनीय कार्य है। उन्होंने पूर्व जिलाधिकारी से अपेक्षा किया कि लगातार लाइबे्ररी को आगे बढ़ाने के लिए अपना मार्गदर्शन यहां के बच्चों को देते रहें और इसको डबल स्टोरी में बनाये जाने के लिए शासन को पत्राचार किया गया है। यदि अनुमति प्राप्त हुई तो जल्द ही इसका निर्माण कराया जायेगा। उसमें सम्बन्धित सुविधायें भी यथा शीघ्र करायी जायेंगी। डीएम हीरालाल ने कहा कि शिक्षा उनकी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि प्राइमरी, माध्यमिक, हायर इजूकेशन में लगभग 22 तरह के इन्नोवेशन्स कार्य किये गए हैं और लगातार हमारा सकारात्मक प्रयास रहेगा। उन्होंने कहा कि लाइबे्ररी को यू0पी0 में नम्बर-01 बनानेे की कार्ययोजना बनायी जाए और इसमें प्रयास किये जायें।

No comments