Latest News

प्रसपा नेता पूर्व विधायक अजीम भाई को दस साल का कारावास, भेजा गया जेल

 पूर्व सांसद फूलनदेवी की हत्या के विरोध में प्रदर्शन का मामला
बस जलाने का तीन लोगों पर था आरोप, दो की अलग चल रही थी पत्रावली
अजीम भाई ने कहा - कानून पर विश्वास फैसले के विरोध में जायेंगे हाईकोर्ट  

फिरोजाबाद, विकास पालीवाल   ।  आज बुधवार को  फिरोजाबाद के जनपद न्यायालय में  पूर्व विधायक एवं प्रसपा के जिलाध्यक्ष  अजीम भाई को पूर्व सांसद फूलनदेवी की हत्या के विरोध में किये गये प्रदर्शन के दौरान बस में आग लगाने के मामले की सुनवाई में दस साल की सजा माननीय न्यायालय द्वारा सुनाई गई ।  इस बारे में सरकारी वकील प्रेम सिंह वर्मा ने जानकारी देते हुये बताया कि 27 जून 2001 को पूर्व सांसद फूलनदेवी की हत्या के विरोध में समाजवादी पार्टी द्वारा पूरे प्रदेश में प्रदर्शन किया जा रहा था । इसको लेकर फिरोजाबाद में उस समय के तत्कालीन  जिलाध्यक्ष हरीशंकर यादव प्रदर्शन करके ज्ञापन देकर चले गये थे लेकिन अजीम भाई,
पुलिस अजीम भाई को गिरफ्तार करके ले जाते हुए ।
मंशाराम यादव, संजय यादव ने  आगरा की तरफ से जो बस आ रही थी, उस बस को जला दिया।  उसमें तीन लोगों के विरूद्ध एसएचओ उत्तर ने नामजद मुकदमा पंजीकृत कराया था। इस दौरान अजीम भाई की पत्रावली पृथक कर दी गयी थी। दो लोगों की पत्रावली चलती रही थी।  अजीम भाई का विचारण जनपद न्यायालय में विशेष न्यायाधीश  डा. केशव गोयल द्वारा विचारण किया गया। जिसमें अभियोजन पक्ष  द्वारा छह लोगों का परीक्षण कराया गया। जिसमें गवाहों ने माननीय न्यायालय ने आईडिटीफिकेशन किया गया।  अजीम भाई द्वारा बस में आग लगायी गयी थी और मंशाराम यादव द्वारा कैरोसीन मिट्टी का तेल दिया था, संजय यादव ने माचिस दी थी। इसीलिए अपराध पूरा अजीम भाई द्वारा किया गया था।  डा. केशव गोयल द्वारा दस साल की सजा सुनाई गई। अजीम भाई को सजा के बाद जेल भेजा गया। 
    वहीं अजीम भाई ने कहा कि सांसद फूलन देवी की हत्या हुई थी उसमें प्रदर्शन किया था। इस मामले में माननीय न्यायालय द्वारा सजा सुनाई गई है, कानून पर विश्वास है ।  इस फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट जायेंगे। वहीं सिरसागंज विधायक हरीओम यादव ने भी कहा कानून पर पूरा विश्वास करते हैं । बाकी इस फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट जायेंगे । 
       

No comments