Latest News

विभिन्नता में एकता की विशिष्टता भारत का संविधान: मंत्री

71वें गणतंत्र दिवस पर तिरंगा फहरा कर ली परेड की सलामी
सांस्कृतिक कार्यक्रमों की रही धूम, मंत्री ने एसआई को दिया स्वर्ण पदक

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । गणतंत्र दिवस समारोह कार्यक्रम में नागरिक उड्डयन विभाग, राजनैतिक पेंशन, अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज विभाग मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने पुलिस लाइन प्रागंण में परेड की सलामी लेते हुए परेड का निरीक्षण कर पुलिस अधिकारियों को सम्मानित किया। 
उन्होंने 71वें गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ एवं बधाई देते हए अमर बलिदानियों को श्रद्धा सुमन अर्पित किया। जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहूति दे दी। आज हम सबसे बड़े और सबसे मजबूत लोकतान्त्रिक देश के रूप में स्थापित हैं। इसका श्रेय देश के उन महान संविधान शिल्पियों को जाता है। जिन्होंने हमें विश्व का सर्वश्रेष्ठ संविधान दिया। भारत की विभिन्नता में एकता की विशिष्टता भारत के संविधान में पूरी तरह से साकार हुई है। कहा कि हमारा देश विश्व में एक सशक्त पहचान के साथ अग्रिम पंक्ति पर खडा है। हम सब के प्रेरणास्रोत पूर्व प्रधानमंत्री स्व अटल बिहारी बाजपेयी ने कहा था कि अगर 19वीं सदी इग्लैंड की थी। 20वीं सदी अमेरिका की थी तो 21वीं सदी भारत की होगी। इसलिए हमारे सामने असीम संभावनाओं के द्वार खुले
हुए हैं। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत की वैश्विक पहचान को नई ऊँचाइयों पर पहुँचाया है। हर क्षेत्र में पूरी दुनिया भारत की ओर देख रही है। उन्होंने कहा कि हमारे आजादी के नायकों और संविधान निर्माताओं ने जिस समृद्ध, शक्तिशाली और स्वर्णिम भारत का सपना देखा था। हम उस सपने को साकार करने की दिशा में प्रधानमंत्री के नेतृत्व में तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। कहा कि हम सबका यह सौभाग्य है कि देश का दिल कहे जाने वाले उत्तर प्रदेश की बागडोर एक ऐसे सन्त, कर्मयोगी के हाथों में सुरक्षित है, जिनके लिए प्रदेश की 24 करोड़ जनता का कल्याण ही सर्वोच्च प्राथमिकता है। प्रदेश का सबसे वंचित और गरीब व्यक्ति कैसे प्रगति की मुख्य धारा में शामिल हों, इसके लिए मुख्यमंत्री निरन्तर प्रयास कर रहे है। प्रभारी मंत्री ने कहा कि पुलिस के कर्तव्यनिष्ठ जवानों को भी नमन करता हूँ, जो अपने परिवार को छोड़कर भी हमारी सुरक्षा सुनिश्चित करते हैं । हम त्यौहार और खुशियाँ मना पाते हैं तो केवल उन जवानों के कारण ही, जिनके लिए उनका कर्तव्य पालन सर्वोच्च प्राथमिकता है। और वे किसी को भी इसके आड़े नहीं आने देते। आपकी वर्दी त्याग, बलिदान, पराक्रम और अनुशासन का प्रतीक है । सेवाभाव और अनुशासन को नमन करता हूँ। प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और मुख्यमंत्री एक ऐसे बरगद को उखाड़ कर गिरा रहे हैं। जिसमें जातिवाद, परिवारवाद और स्वार्थ के विषैले कीड़े लग गये थे।
इस महासंघर्ष में हमें उनके साथ चट्टान जैसी मजबूती के साथ खड़े होना होगा। क्योंकि यह लड़ाई बहुत कठिन है। आज मुद्दा विहीन विपक्ष विभाजनकारी और देश विरोधी ताकतों के साथ खड़ा है। यह स्थिति चिन्ताजनक है और हमें पूरी एकजुटता के साथ इस षडयंत्र का मुँहतोड़ जवाब देना होगा। आज के दिन इस ऐतिहासिक अवसर पर हम सब यह संकल्प लें कि देश और प्रदेश के विकास और तरक्की में अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान सुनिश्चित करेंगे। हम सब मिलकर प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और मुख्यमंत्री के कन्धे से कन्धा और कदम से कदम मिलाकर उनको मजबूती प्रदान करें। अन्त में मंत्री ने सभी को शुभकामना व बधाई देते हुए कहा कि कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी,सदियों रहा है दुश्मन दौरे जहां हमारा,सारे जहां से अच्छा हिन्दुस्ता हमारा। पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने शपथ दिलाते हुए कहा कि आज उत्तर प्रदेश पुलिस की रायफल 303 को 26 जनवरी 2020 को अलविदा किया जा रहा है। यह ब्रिटिश आर्मी में 1880 में बनायी गई थी जिससे प्रथम विश्व युद्ध हुआ। इसकी मार तीन हजार गज तक थी और यह हमारे पुलिस कर्मियों को बहुत साथ दिया आज यह उत्तर प्रदेश पुलिस से बाहर हो रही है अब कई तकनीकी सुविधायुक्त शस्त्र पुलिस विभाग के पास उपलब्ध हो गये हैं। उन्होंने मंत्री सहित आये हुए सभी अतिथियों का स्वागत किया। इस अवसर पर विभिन्न विद्यालयों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया तथा उन्हें पुरस्कृत भी किया गया। इस दौरान जिला जज आरपी सिंह, जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय सहित विभिन्न जनपद स्तरीय अधिकारी व न्यायिक अधिकारियों सहित पुलिस विभाग के अधिकारी, कर्मचारी व भारी संख्या में लोग मौजूद रहे। अपर पुलिस अधीक्षक बलवन्त चैधरी ने पुलिस कार्यालय में तथा जनपद के समस्त थाना, चैकी प्रभारियों ने थाना-चैकियों में ध्वजारोहण कर तिरंगे झण्डे को सलामी दी गयी।

No comments