Latest News

सह निदेशक कृषि विद्यालय का औचक निरीक्षण केवीके में

हमीरपुर, महेश अवस्थी । कृषि विज्ञान केन्द्र कुरारा का औचक निरीक्षण डाॅ नरेन्द्र सिंह सह निदेशक कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय बांदा ने किया और वैज्ञानिकों के तकनीकी कार्यकलापों की समीक्षा की। वैज्ञानिक अपने-अपने कार्ययोजना और प्रगति आख्या के साथ मुस्तैद रहे। डाॅ नरेन्द्र सिंह ने केवीके के विकास में तेजी से गति लाने के लिये एक दर्जन नवाचार कृषि तकनीक को केन्द्र और किसानों के बीच व खेतों में सीधे उतारने के लिये निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जनपद में कृषि विकास के लिये और किसानों के विकास के लिये तकनीकी समस्या निवारण के लिये ही कृषि विज्ञान केन्द्र खोला गया है। किसानों को सर्वोपरि दृष्टिगत् रखकर किसानों की
तकनीकी समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर उनके खेतों मंे जाकर और केन्द्र में तुरन्त निस्तारित करने के निर्देश दिये। किसानों को प्राकृतिक आपदा व कृषि जोखिम प्रबन्धन के प्रति समय से पूर्व बचाव के लिये सुझाव दिये। डाॅ एसपी सोनकर ने बताया कि केवीके में नवाचार कृषि तकनीक के अंतर्गत बीहड़ में हरियाली किसान की आय दोगुना करने के लिये माॅडल, पराली प्रबन्धन हेतु हैप्पी सीडर व सुपर सीडर, वेस्टडी कम्पोजर, सब्जियों में ब्रोकली व खरीफ प्याज किसानों के खेत के साथ-साथ केवीके ने भी माॅडल इत्यादि के कार्य किये गये हैं। डाॅ मो मुस्तफा ने सह निदेशक को केवीके परिसर में भ्रमण के दौरान उनके द्वारा बीज उत्पादन कार्यक्रम चना, मटर, मसूर की फसलें एवं चारागाह में नेपियर घास, बरसीम व अन्य घासें, पशुपालन में थारपारकर गाय एवं बकरी पालन में बकरियों की नस्ल जखराना, बकरी को भी दिखाया। डाॅ शालिनी, डाॅ फूल कुमारी, डाॅ चंचल, शिवम, सुशील, वैभव दिवाकर, पियूष व इंजीनियर अजीत मौजूद रहे।

No comments