Latest News

देश में लागू की जाए एक समान शिक्षा

सामाजिक परिवर्तन मंच ने किया प्रदर्शन 
राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । सामाजिक परिवर्तन मंच ने शुक्रवार को कचहरी गेट में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन और जनसभा का आयोजन किया। इस दौरान पूरे दइेश में एक समान शिक्षा सभी के लिए लागू करने का प्रस्ताव पास किया गया। बाद में राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा गया। 
जनसभा को संबोधित करते हुए सामाजिक परिवर्तन मंच के राष्ट्रीय संयोजक पूर्व कैैबिनेट मंत्री दद्दू प्रसाद ने कहा कि हम चाहते हैं कि संविधान में प्रदत्त एक समान शिक्षा के मूल अधिकार को पूरी तरह से लागू किया जाए। 
कचहरी गेट में प्रदर्शन करते पदाधिकारी और कार्यकर्ता
अफसर हो या मजदूर किसान, सबकी हो शिक्षा एक समान। इस संबंध में सरकार विधि का निर्माण करे। अमीर और गरीब का बेटा सभी एक साथ पढ़ें। इसलिए जवाहर नवोदय विद्यालयों की संख्या 600 से बढ़ाकर एक लाख की जाए। शिक्षा का बजट तीन प्रतिशत से बढ़ाकर 25 प्रतिशत किया जाए। मिड-डे-मील योजना तत्काल बंद की जाए। यह धनराशि सीधे बालकों के अभिभावकों के खातों में भेजी जाए। एक समान शिक्षा के बिना सामाजिक, आर्थिक समानता नहीं हो सकती। राष्ट्रीय एकता नही हो सकती। कहा गया कि जब सभी प्रतियोगिी परीक्षाएं अमीर, गरीब सभी के लिए एक समान हैं तो शिक्षा भी सभी की एक समान हो। वन नेशन, वन एजूकेशन नीति को लागू किया जाए। अंबेडकर पार्क से प्रारंभ करके सिविल अस्पताल अंबेडकर नगर प्रधान डाकखाना रोडवेज होते हुए कचहरी तक प्रदर्शन किया गया। कचहरी गेट पर धरना दिया गया। जनसभा को दिल्ली से चलकर आए डेमोक्रेटिक बहुजन एलाइंस के राष्ट्रीय संयोजक कमल किशोर कठेरिया व पूर्व राज्यमंत्री राजाराम आनंद अलीगढ़ व पूर्व मंत्री बशीरुद्दीन खां हमीरपुर ने सभा को संबोधित किया। बौद्ध धम्म के प्रकांड विद्वान पूज्य भंते सुमित रतन ने संबोधित किया। देश में एक समान शिक्षा लागू करने का आवाहन किया गया। लगभग हजारों लोगों ने नारे लगाते हुए एक समान शिक्षा लागू करने की नीति का समर्थन किया गया। 

No comments