Latest News

नागरिकता संशोधन बिल

 देवेश प्रताप सिंह राठौर
 ( प्रदेश महासचिव)

नागरिकता संशोधन बिल पर जिस तरह से भारत देश में पश्चिम बंगाल से लेकर केरल दिल्ली और बहुत से राज्यों में जिस तरह से नागरिकता संशोधन बिल पर क्षेत्रीय नेता गलत बयान बाजी करते हुए जनता को गुमराह करने का काम कर रहे हैं ।जबकि नागरिकता संशोधन बिल भारत में रहने वाला कोई भी नागरिक के साथ छेड़छाड़ करना काम नहीं कर रही है और ना ही कोई इस बिल के कारण देश से बाहर जा रहा है फिर भी लोगों के द्वारा गलत बयानबाजी की जा रही है केरल के राज्यपाल माननीय आरिफ मोहम्मद खान ने स्पष्ट रूप से जो आप की अदालत में बताया उससे जनता को स्पष्ट तौर पर समझ लेना चाहिए कि जो लोग नागरिकता संशोधन बिल पर तिल का ताड़ बनाए हुए हैं वह सिर्फ अपने राजनीतिक लाख के कारण जनता को मूर्ख बना रहे हैं परंतु इस देश की जनता हमेशा नेताओं के मूर्ख बनाने की मैं आती रहती है। जिस तरह जेएनयू में फिल्मी कलाकार दीपिका पादुकोण गई और छपाक फिल्में अभी उनकी रिलीज हुई है भारत सरकार से चाहता हूं किसको रोक लगनी चाहिए किच्छा पार्क फिल्म में जो कहानी जिस व्यक्ति ने तेजाब डाला उसका नाम हिंदू रखा गया जबकि

मोहम्मडन वक्त ने तेजाब डाला था ऐसा क्यों छपाक फिल्म के डायरेक्टर ने किया क्योंकि कहानी थी तो कहानी में नाम हिंदू क्यों रखा गया जब कहानी सेम दिखाई जा रही है तो उसी आधार पर पूरी पिक्चर को दर्शाने का कार डायरेक्टर को करना चाहिए था और जिस तरह से दीपिका पादुकोण के भाव नजर आ रहे हैं वह बादल की एजेंट के तौर पर वहां पर जेएनयू में जाकर अपनी वाह वाही लूटने के लिए जो जेएनयू में जाकर एक गलत संदेश देश को देने का काम किया देश में बहुत सी जगह न्याय राज्य में होते रहते हैं जैसे पश्चिम बंगाल है केरल है अभी राजस्थान में सैकड़ों बच्चे मर गए हैं वहां उन्होंने सहानुभूति के तौर पर लोगों से जाकर मिलने की जरूरत नहीं समझी की जेएनयू में गुंडागर्दी का कॉलेज बन गयाहै जिसे सरकार को चाहिए कुछ वर्षों के लिए बंद कर दें, आज पूरा देश जेएनयू को इस तरह देखता हैजहां पर देश की राजनीति पूरी टिकी है तथा देश की निगाहें भी क्योंकि वह दिल्ली में स्थापित है इसलिए वहां जाने से यश वैभव प्राप्त करने की सोच के साथ दीपिका पादुकोण गई जिससे उन्हें कांग्रेश के आने वाले समय में कांग्रेश उनका अपनी पार्टी में लेने में कतई कोताही नहीं करेगी क्योंकि उन्हें देश में न्याय नहीं दिखाई दिया पश्चिम बंगाल में 2019 में लोकसभा चुनाव से पहले किस तरह के ममता बनर्जी ने वहां पर लोगों पर अत्याचार किए थे ममता सरकार के द्वारा जिस तरह सीबीआई जांच करने चिटफंड कंपनी शारदा के गुनाहगारों को पकड़ने के लिए उनसे पूछताछ के लिए सीबीआई ने जिस तरह कोलकाता गई और ममता सरकार ने सीबीआई को बंधक बनाया बहुत सी चीजें ऐसी हैं जो सरकार ने के सरकार के विरोध में किया गया वहां पर ममता बनर्जी के काले कारनामों को दीपिका पादुकोण को नहीं दिखाई दिया आज देश जानना चाहता है कि राजनीति सिर्फ स्वार्थ के लिए होती है देश में भावना दुख दर्द भी बटे हुए होते है। आज उत्तर प्रदेश की योगी सरकार जिस तरह अच्छे कार्यों के साथ प्रदेश की प्रगति पथ पर आगे ले जाने का कार्य कर रही है और लोगों को विपक्षी दलों को हजम नहीं हो रहा है क्योंकि प्रदेश में गुंडाराज आज समाप्त हो चुका है, पुलिस से लेकर सभी विभाग बहुत ही अच्छी तरीके से कार्य कर रहे हैं लोगों को मदद और न्याय मिलने का कार्य उत्तर प्रदेश में आज हो रहा है जो स्पष्ट तौर पर सफलता का प्रतीक है।

No comments