Latest News

झांसी बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी दलालों के हाथ

देवेश प्रताप सिंह राठौर
 प्रदेश महासचिव
आमजा भारत

 झांसी का बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी आज हाशिए पर है। यहां पर आज तक अनियमितताओं का  अंबार है ,इन यूनिवर्सिटी में दलाल और भ्रष्टाचारी से परिपूर्ण कुछ वहां के स्टाफ जैसे आरके सैनी प्रॉक्टर कुलान शासक ,एवं धीरज शर्मा समन्वयक, मुन्ना तिवारी हिंदी विभाग के और भी बहुत से अन्य जिनके नाम निश्चित तौर पर प्राप्त नहीं हुए हैं लेकिन उनके चेहरे सामने प्राप्त हुए हैं । वहां कुछ महिलाओं अध्यापकों के साथ मिलकर छात्र छात्राओं का उत्पीड़न करने का मामला सामने आया है ,यह लोग पूर्व में  एक अनुशासनहीनता के विषय में आरके सैनी प्रॉक्टर ,और धीरज शर्मा समन्वयक से मेरी वार्तालाप हुई थी जिनके कार्यकलाप  ठीक नहीं है। जिनका कार्य बच्चों से छात्र-छात्राओं से पैसे लेकर गलत तरीके से एडमिशन कराना और उन्हें पास कराना मार्कशीट दिलवाना अन्य बहुत से तरीके हैं जो कॉलेज में द्वारा उपलब्ध कराए जाने की हर सुविधाएं हप्रदान करने का एक बहुत बड़ा नेटवर्क चल रहा है इस संबंध में बताने की जरूरत नहीं है। जब मैंने वाइस चांसलर श्री जगत विनायक जी से बात करनी चाहिए तो उनसे बात नहीं हो सकी कुलसचिव नारायण प्रसाद से मैंने बात की और उन्होंने कोई
संतोषजनक जवाब नहीं दिया एक व्यक्ति उस कॉलेज में मास कम्युनिकेशन की परीक्षा देने गया था जिसका दोष सिर्फ इतना था कि जो पेपर देकर और अपने जेब से मोबाइल निकाल लिया जबकि पेपर को समाप्त कर चुका था और पेपर देने की स्थिति में मैडम जो ड्यूटी पर थी उनसे उन्होंने कहा I इसे आपने जमा नहीं किया और हल्ला मचा दिया हल्ला मचाने पर आरके सैनी प्रॉक्टर धीरज शर्मा समन्वयक मुन्ना तिवारी हिंदी विभाग के दौड़कर रूम में आ गए और उन्हें मौका मिल गया उस वक्त के साथ कार्रवाई करनेका उसे व्यक्ति को कहीं जाना था । कुछ माह पहले आरके सैनी प्रॉक्टर, धीरज शर्मा समन्वयक, मुन्ना तिवारी हिंदी विभाग के लोग दौड़कर क्लास में पहुंचे और उस व्यक्ति को अपमानित करते हुए बाहर लाएं और गार्डों को बुलाया और  की स्थिति पैदा की लेकिन वहां पर एक व्यक्ति ने विरोध किया जिसके कारण यह लोगों के अभद्र व्यवहार से वह व्यक्ति बच सका यह शिक्षा विभाग में गुंडागर्दी और तानाशाही चल रही हैयह कोई नई बात नहीं है बहुत पहले से चली आ रही है जिसमें मुख्य रूप से धीरेंद्र शर्मा समन्वयक आरके सैनी प्रॉक्टर द्वारा तेजी से उस वक्त को मारने को दौड़े जिसकी जेब में मोबाइल निकला महोदय यह घटना उन लोगों द्वारा की गई है जो लोग उस वक्त से पूर्व में भी रंजिश रखते थे क्योंकि पूर्व में उनके द्वारा इन व्यक्तियों की दुराचारी की बात कई बार लिखी गई थी मुझे इस संबंध में जब मैंने बात की वाइस चांसलर बुंदेलखंड से तो उन्होंने आउट ऑफ स्टेशन होने की बात कही और 5 जनवरी कीतारीख के बाद इस बात पर कार्रवाई करने का भरोसा दिया महोदय यह लोग इतने दुराचारी हैं कहते हैं कि हम राजपाल के अधीनस्थ है हमारा कोई सरकार कुछ नहीं कर सकती मैं इनके दुराचार की पूरी घटना प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं माननीय राज्यपाल तक पहुंचाने का कार्य करूंगा।जब बुंदेलखंड विश्वविद्यालय का निर्माण हुआ था बुंदेलखंड विश्वविद्यालय जो वाइस चांसलर चंद्रा साहब के जमाने में चुन चुन कार्य हुआ था वह आज 10 को 10 को वर्ष  वर्ष हो गए हैं बुंदेलखंड में एक ईंट का निर्माण ना ही कोई विकास चंद्रा साहब वाइस चांसलर के जाने के बाद हुआ है बड़े दुर्भाग्य की बात है बुंदेलखंड विश्वविद्यालय जैसा बदनाम यूनिवर्सिटी मेरे ख्याल से उत्तर प्रदेश में कोई और नहीं है बुंदेलखंड  यूनिवर्सिटी है जहां पर घर जहां पर डी गडरिया आसानी से प्राप्त हो जाती हैं प जहां पर बच्चे पेपर देते हैं और कोई पास होता है यह धारणा आरके सैनी प्रॉक्टर धीरेंद्र शर्मा और इनका पूरा गैंग जो बहुत बड़ा है इन सब के द्वारा संचालित किया जाता है इस पर कितने बच्चों का जीवन बर्बाद होता है कितने अच्छे हो ना लड़के इनके कारनामों के कारण पंचित अपने भविष्य को पाने में असमर्थ होजाते हैं यह एक बड़ी घटना है इस पर मुझे विश्वास है कि वाइस चांसलर गंभीरता से लेंगे और इन लोगों पर सख्त कार्रवाई करेंगे।

No comments