Latest News

बांध में मिला पत्नी का शव, पति का नहीं चला पता

पत्नी के शव को ठिकाने लगाते समय पलट गई थी नाव
कमर व हाथ में पत्थर बंधा मिला शव, चर्चाओं का बजार गर्म 

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । गत दिवस रहस्यमय ढंग से पत्नी समेत गायब हुए सपा नेता की खोज को प्रयागराज से आई एसडीआरएफ टीम सवेरे से बांध में उतर गई। दोपहर को पत्थर से भरे बोरे में पत्नी का शव बरामद हुआ। जिसकी शिनाख्त परिजनों ने की है। खबर लिखे जाने तक सपा नेता का सुराग नहीं लग सका। पुलिस ने शव को मर्चरी में रखा है। दूसरे दिन भी सैकडों लोगों का हुजूम बांध में मौजूद रहा।

गौरतलब हो कि बीते मंगलवार की रात पत्नी मीनू उर्फ नमिता की हत्या कर शव ठिकाने लगाने को पति सपा नेता भरत दिवाकर बरुआ बांध लेकर आया था। साथी नाविक रामसेवक के सहयोग से बोरे में लगभग एक कुन्तल से अधिक पत्थर मृत पत्नी के कमर व हाथों में बांधकर नाव में रखने के बाद गहरे पानी में फेंकने के दौरान नाव पलट गई। जिससे सपा नेता और नाविक भी पानी में जा गिरे। नाविक तो किसी तरह बच निकला, किन्तु सपा नेता का कोई पता नहीं चला। नाविक ने बताया कि नाव पलटने से वह भी डूब गया है। इस पर पुलिस दिनभर बांध में कडी मशक्कत कर खोजबीन करती रही, किन्तु सफलता नहीं मिल सकी। इस पर गुरुवार को प्रयागराज से आई एसडीआरएफ टीम ने सवेरे लगभग 11 बजे से बांध में गायब सपा नेता समेत पत्नी को तलाश शुरू कर दी। दोपहर बाद जब पत्नी का बोरे में भरा शव बाहर निकाला तो मौजूद लोग अचंभित रह गए। घटना को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं व कानाफूसी होने लगी। सपा नेता का कुछ सुराग न चलने पर तरह-तरह की चर्चाओं का बाजार गरम रहा। पुलिस न शव को मर्चरी भेजा है। घटना से परिजनों में कोहराम मच गया। 


घटना स्थल पर मौजूद रहे अधिकारी
चित्रकूट। लगातार दो दिनों से रहस्य का खुलासा करने के लिए पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल के निर्देश पर एएसपी बलवंत चैधरी, एसडीएम एके पाण्डेय, सीओ सिटी रजनीश यादव भारी पुलिस बल के साथ जुटे रहे। दूसरे दिन एसडीआरएफ टीम ने बांध से शव निकाला है। खबर लिखे जाने तक सपा नेता का कुछ पता नहीं चल सका।

मृतका ने किया था प्रेम विवाह
चित्रकूट। बताया जाता है कि वर्ष 2014 में सपा नेता भरत दिवाकर के साथ मृतका मीनू ने प्रेम विवाह किया था। इस वजह से मृतका के परिजन नाखुश थे। जिसके चलते वह पूरे घटनाक्रम में कहीं नहीं दिखे। हालाकि बहन का पुत्र संदीप घटना स्थल बरुआ बांध पर मौजूद रहे। उन्होंने बताया कि मृतका के पांच वर्षीय पुत्री तान्या है। मीनू को 2014 में महोबा से ले गया था। मृतका के पिता सेवानिवृत एसआई है। चार बहनो में तीसरे नंबर की थी। मां बिमला है। जिसे घटना के एक दिन पूर्व दाहिनी गांव चाचा ले गया था।

No comments