Latest News

कानून व्यवस्था, विकास कार्यो की समीक्षा की नोडल अधिकारी ने

बैठक से गायब रहने पर शासन को पत्र लिखने के निर्देश 

उरई(जालौन), अजय मिश्रा । परिवहन आयुक्त उत्तर प्रदेश/नोडल अधिकारी धीरज साहू का जनपद जालौन के दो दिवसीय भ्रमण कार्यक्रम के अन्तर्गत आज दूसरे दिन विकास भवन सभागार में मुख्यमंत्री जी के कानून व्यवस्था एवं विकास प्राथमिकता वाले 18 बिन्दुओं पर समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। समीक्षा बैठक में सर्वप्रथम नोडल अधिकारी द्वारा कानून व्यवस्था की समीक्षा की।
        समीक्षा के दौरान उन्होंने कुल मामलों तथा कुल दर्ज मामलों तथा लम्बित मामलों की जानकारी की जिस पर पुलिस अधीक्षक द्वारा कानून व्यवस्था के बारे में कहा कि कानून व्यवस्था ठीक है। नोडल अधिकारी द्वारा कहा कि जो मामले अभी लम्बित है वह किस कारण से लम्बित है उन्होने थानों में रिक्त पदों के संबंध में भी जानकारी की तथा यह भी जानकारी की कि महिला समूहों द्वारा थानों में कितने शिकायती पत्र दर्ज कराये गये तथा इन मामलों पर संबंधित थानों पर मामले दर्ज किये जाने के संबंध में कोई हीलाहवाली तो नही की गयी हैं। उन्होंने महिला परामर्श केन्द्रों पर आये शिकायतों के निस्तारण की भी जानकारी की जिस पर पुलिस अधीक्षक ने
अधिकारियों के साथ बैठक करते नोडल अधिकारी।
अवगत कराया। नोडल अधिकारी ने सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी से जानकारी की कि कितने ओवर लोडिंग गाड़ियों के चालान किये गये तथा उस पर क्या कार्यवाही की गयी। उन्होने अवैध खनन की भी समीक्षा की तथा अवैध खनन रोकने के भी कड़े निर्देश दिये। नोडल अधिकारी ने जनपद में गौशालाओं के निर्माण एवं गौवंश के संरक्षण के संबंध में जानकारी की जिस पर बताया गया कि 156 गौशालायें संचालित है जिनमें 10204 गौवंश संरक्षित है। उन्होंने सभी गौशालाओं की क्षमता तथा उसमें संरक्षित गौवंशों के बारे में भी जानकारी की तथा यह भी कहा कि जिन गौशालाओं की क्षमता है उसी हिसाब से गौवंश संरक्षित किये जाये। उन्होंने सभी नगर पालिका एवं नगर पंचायतों के अन्तर्गत काजी हाउस बताये गये जिसमें कुछ सक्रिय है । उन्होंने आयुष्मान भारत योजना की समीक्षा के दौरान निजी चिकित्सालयों तथा पंजीकृत चिकित्सालयों के संबंध में जानकारी की। उन्हांेने गोल्डन कार्ड के लाभार्थियों की संख्या तथा उसके अद्यतन वितरण की भी जानकारी की जिस पर संबंधित चिकित्सा अधिकारी द्वारा बताया गया। नोडल अधिकारी द्वारा गोल्डन कार्ड कम बनाये जाने पर उसकी संख्या और बढ़ाये जाने के भी निर्देश दिये। उन्हांेने खाद्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत राशन वितरण की स्थिति की समीक्षा की तथा आधार प्रमाणीकरण कितना प्रतिशत होना चाहिये नोडल अधिकारी द्वारा स्वच्छता कार्यक्रम के अन्तर्गत पिछली बैठकों में दिये गये निर्देशों के क्रम में जानकारी की जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा बताया गया कि 47 शौचालय अपात्र को दे दिये गये थे जिसकी जांच चल रही हैं। उन्होंने यह भी बताया कि जो धनराशि शौचालय हेतु प्राप्त हुयी है वह संबंधित लाभार्थियों के खाते में भेज दी गयी हैं तथा हैडपम्पों के लगाये जाने के शाइन बोर्ड भी लगाये गये हैं। नोडल अधिकारी द्वारा बाल पुष्टाहार की समीक्षा की जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा बताया गया कि पुष्टाहार नियमित रूप से वितरण हो रहा हैं तथा कुपोषित बच्चों को नियमित पोषाहार मिल रहा है तथा उसकी नियमित जांच करायी जा रही हैं। नोडल अधिकारी द्वारा सिंचाई विभाग की समीक्षा के दौरान अधिशाषी अभियन्ता सिंचाई खण्ड बेतवा नहर-1 के अधिशाषी अभियन्ता के अनुपस्थिति पर नाराजगी जाहिर करते हुये इनके विरूद्व शासन को पत्र लिखे जाने के भी निर्देश दिये तथा नहरों के शिल्ट सफाई तथा पानी आदि के छोड़ने की भी रोस्टर की जानकारी की जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा बताया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी डा. मन्नान अख्तर, पुलिस अधीक्षक डा. सतीश कुमार, मुख्य विकास अधिकारी प्रशान्त कुमार श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी प्रमिल कुमार ंिसह, जिला विकास अधिकारी परियोजना निदेशक डीआरडीए मिथलेश सचान सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

No comments