Latest News

सीएए विरोध का मंसूबा हुआ नाकाम, छह लोग पुलिस हिरासत में

नारे लिखी तख्तियां लिये महिलाओं को भी पुलिस ने हटाया
बजरिया क्षेत्र की दरगाह को बनाना चाह रहे थे विरोध का केंद्र

उरई (जालौन), अजय मिश्रा । नगर के बजरिया क्षेत्र में स्थित बगिया परिसर में बनी दरगाह में राष्ट्रीय उमला कौंसिल के पदाधिकारियों द्वारा सोशल मीडिया पर सीएए का विरोध करने की सूचना बायरल कर मंगलवार की दोपहर में वह कुछ महिलाओं के साथ दरगाह में सीएए का विरोध करने के जा पहुंचे। उक्त मामले की जैसे ही जानकारी कोतवाली पुलिस को पता चली तो भारी संख्या में पुलिस बल के साथ सीओ, कोतवाल जा पहुंचे जहां से उन्होंने आधा दर्जन लोगों को हिरासत कर कोतवाली ले गयी जबकि महिलाओं को दरगाह से खदेड़ दिया। इस दौरान लगभग दो-तीन घंटे तक पुलिस मौके पर मुस्तैद रही।

सीएए का विरोध करते लोग।
मिली जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय उमला कौंसिल के जिलाध्यक्ष सलीम भंडारी, बुंदेलखंड प्रभारी मुबारक खां, शकील, इरशाद, जाकिर व साकिर सहित दर्जन भर से ज्यादा महिलायें अपने हाथों में सीएए का विरोध प्रदर्शित तख्तियां लेकर बगिया परिसर में स्थित दरगाह में पहुंची जहां पर कुछ लोग सीएए को लेकर अपना भाषण देने लगे। इसी दौरान मामले की जानकारी जैसे ही कोतवाली पुलिस को पता चली तो कोतवाल शिवगोपाल वर्मा ने मामले की सूचना सीओ सदर संतोष कुमार को दी। इसके बाद भारी संख्या में पुलिस व महिला पुलिस बल मौके पर जा धमका जहां पुलिस ने कथित रूप से दरगाह परिसर में सीएए का विरोध कर रहे सलीम भंडारी, मुबार खां, जाकिर, साकिर, शकील, आफाक आदि को हिरासत में लिया और फिर उन्हें कोतवाली ले आयी। इसके बाद पुलिस ने जब महिलाओं से पूंछा कि यहां पर क्या कर रही हो तो कुछ महिलाओं ने बताया कि उन्हें यहां पर आने के लिये दो सौ रुपये दिये गये जिससे वह यहां पर आयी है। तो पुलिस ने सभी महिलाओं को दरगाह से सख्ती दिखाते हुये हटाया। इस दौरान कुछ देर के लिये मौके पर अफरा तफरी का माहौल बना लेकिन सीएए विरोध को लेकर स्थानीय लोगों का समर्थन न मिलने से विरोधियों की मंशा पूरी तरह से असफल हो गयी। इसके बाद भी सीओ व कोतवाली पुलिस बल के साथ कई घंटे तक बगिया दरगाह परिसर में पुलिस बल के साथ डटे रहे। समाचार लिखे जाने तक 


No comments