गैर संचारी रोगों की स्क्रीनिंग के लिए चलेगा अभियान - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, January 14, 2020

गैर संचारी रोगों की स्क्रीनिंग के लिए चलेगा अभियान

मधुमेह, हाइपरटेंशन, मुंह व स्तन कैंसर के रोगी होंगे चिन्हित 
30 वर्ष से अधिक आयु वालों की होगी मुफ्त जांच  

बांदा, कृपाशंकर दुबे । जिले में 30 वर्ष से अधिक आयु के महिलाओं व पुरुषों को गैर-संचारी रोगों से निदान व उपचार प्रदान करने के उद्देश्य से 16 जनवरी से अभियान चलाया जाएगा। इसके तहत मधुमेह, हाइपरटेंशन, मुंह तथा स्तन कैंसर की स्क्रीनिंग के बाद हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों के माध्यम से उन्हें इलाज और संदर्भन की सुविधाएं दी जाएंगी। यह अभियान 15 फरवरी तक चलेगा।
प्रजनन एवं बाल स्वास्थ्य के नोडल अधिकारी डा. बीपी वर्मा ने जानकारी दी। 30 से अधिक उम्र के लोगों में गैर संचारी रोगों की अर्ली स्क्रीनिंग और उपचार की बेहतर सुविधाएं देने के लिए पूरे प्रदेश में यह अभियान चलाया जा रहा है। अभियान की मुख्य जिम्मेदारी प्रशिक्षित चिकित्सकों, एएनएम व आशाओं को दी गई है। जनपद में कुल 30 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर बनाए गए हैं जिनके दायरे में आने वाली कुल जनसंख्या 3,08,000 है। मानक के
अनुसार 30 से अधिक उम्र के 37 प्रतिशत महिलाएं व पुरुष यानि 1,13,960 जनसंख्या को अभियान के तहत कवर किया जाएगा। शासन से प्राप्त निर्देशों के अनुसार इनमें से लगभग 50 प्रतिशत लोगों की स्क्रीनिंग अनिवार्य रूप से की जाएगी। आशाओं द्वारा अपने कार्यक्षेत्र के सभी घरों का भ्रमण कर परिवार फोल्डर बनाया जाएगा और 30 वर्ष से अधिक उम्र के महिलाओं और पुरुषों की जानकारी सीबैक फार्म में भरी जाएगी। इस फार्म को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों पर कार्यरत कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर (सीएचओ) या एएनएम के पास जमा किया जाएगा, जिसके बाद एनसीडी एप में इनकी आनलाइन फीडिंग होगी।     
गौरतलब है कि आयुष्मान भारत योजना के तहत जनपद के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों और उपकेंद्रों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों में तब्दील कर गैर-संचारी रोगों की प्राथमिक जांच और आवश्यकतानुसार संदर्भन के लिए उनका सुदृढ़ीकरण किया गया है, जिससे घर के समीप ही लोगों को गुणवत्तायुक्त स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जा सकें। साथ ही पात्रता के आधार पर आयुष्मान भारत योजना के तहत लोगों को निशुल्क इलाज भी मिल सके। जिला कार्यक्रम प्रबंधक कुशल यादव ने बताया कि 19 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों पर कम्युनिटी हेल्थ आफिसरों की नियुक्ति हो चुकी है। सम्बंधित रोगियों की निगरानी के लिए एनसीडी एप भी लांच की गई है जिसके लिए जनपद की समस्त एएनएम को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। 

सीएचओ को दिया प्रशिक्षण 

बांदा। एनसीडी अभियान के सम्बन्ध में जनपद के समस्त प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों, ब्लाक कार्यक्रम अधिकारियों और सीएचओ के लिए आज मंगलवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी सभागार में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें उन्हें अभियान की कार्ययोजना की जानकारी और एनसीडी एप में
विवरण भरने का प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण चित्रकूट से आए एनसीडी एप्लीकेशन ट्रेनर विकास कुशवाहा द्वारा दिया गया। एनसीडी स्क्रीनिंग के साथ ही आयुष्मान लाभार्थियों को चिन्हित कर उनके गोल्डन कार्ड बनाने के निर्देश भी दिए गए। कार्यक्रम में नोडल अधिकारी डा. बीपी वर्मा, जिला कार्यक्रम प्रबंधक कुशल यादव, एनसीडी वित्तीय सलाहकार अरविन्द गुप्ता, परिवार नियोजन लाजिस्टिक्स मैनेजर चैतन्य कुमार, शहरी स्वास्थ्य समन्वयक प्रेमचन्द्र पाल आदि शामिल रहे। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages