Latest News

जय जवान, जय किसान नारे ने दी थी नई ऊर्जा-राकेश सचान

पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की मनाई पुण्यतिथि

फतेहपुर, शमशाद खान । भारत रत्न एवं देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 लाल बहादुर शास्त्री की पुण्यतिथि मनाई गयी। सर्वप्रथम उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर उपस्थित लोगों ने श्रद्धासुमन अर्पित किये। तत्पश्चात गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए पूर्व सांसद राकेश सचान ने कहा कि शास्त्री जी के जय जवान, जय किसान के नारे ने किसानों व नौजवानों को एक नई ऊर्जा दी थी। 
गोष्ठी को सम्बोधित करते पूर्व सांसद राकेश सचान।
शहर के बिन्दकी बस स्टाप रोड स्थित कैम्प कार्यालय में पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की पुण्यतिथि मनाई गयी। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व सांसद राकेश सचान ने शिरकत की। सर्वप्रथम पूर्व प्रधानमंत्री के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की गयी। तत्पश्चात पूर्व विधायक अमरनाथ सिंह अनिल की अध्यक्षता में गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए पूर्व सांसद श्री सचान ने कहा कि स्व0 लाल बहादुर ने जय जवान जय किसान का नारा दिया था। भारत वर्ष के किसानों एवं नौजवानों में नई ऊर्जा संचालित करने का था। इस नारे से भारत आत्म निर्भरता की ओर बढ़ा लेकिन इसके साथ ही आज की सरकार की परिस्थितियों के संदर्भ में श्री सचान ने कहा कि खोखले नारे दिये जा रहे हैं। जिससे समाज में विघटन की स्थितियां पैदा हो रही हैं। आज किसान एवं नौजवान, बेरोजगार परेशान हैं। भारत के बेरोजगारी अर्थव्यवस्था बढ़ती महंगाई एवं अन्य तमाम आवश्यक मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए वर्तमान केन्द्र सरकार एवं प्रदेश सरकार नागरिकता कानून एवं अन्य तमाम विभाजनकारी मुद्दों को उछाल रही है। गोष्ठी का संचालन पूर्व चेयरमैन अजय अवस्थी ने किया। इस मौके पर अरविन्द द्विवेदी, ओम प्रकाश गिहार, राजकुमार मौर्या, पियूष दीक्षित, सुनील शुक्ला, पप्पू लम्बू, सईद, कंधई, अशोक मौर्य, आफाक अली, अरूण जायसवाल, छोटू मिश्रा, चंदन सिंह, गोरेलाल के अलावा अन्य तमाम कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

No comments