Latest News

अभियान के तहत 8646 बच्चो तथा 2323 गर्भवती महिलाओ के टीकाकरण का लक्ष्य

मिशन इंद्रधनुष अभियान का दूसरा चरण 6 जनवरी से टीकाकरण से छूटे बच्चो को किया जायेगा पूर्ण प्रतिरक्षित

बिजनौर (संजय सक्सेना) सघन मिशन इन्द्र धनुष अभियान 2. 0 का दूसरा चरण छह जनवरी से शुरू होगा। दूसरे चरण में टीकाकरण कवरेज बढ़ाने व छूटे बच्चों को पूर्ण प्रतिरक्षित करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है | दूसरे चरण में 8646 बच्चों तथा 2323 गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है। अभियान को सफल बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ब्लॉक से लेकर जिला स्तर तक कार्यशाल का आयोजन कर रहा है. 
प्रदेश भर में कई जिलों का टीकाकरण प्रतिशत अब भी 90 प्रतिशत से कम है|, वहीं कई स्थानों पर छूटे हुए बच्चों की संख्या भी अधिक है ऐसे में स्वास्थ्य विभाग द्वारा इन सभी स्थानों पर टीकाकरण प्रतिशत बढ़ाने के लिए सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान चलाया जा रहा है. अभियान में एएनएम, आशा कार्यकर्ता द्वारा बच्चे को पूर्ण प्रतिरक्षित
करने के लिए ड्रॉपआउट बच्चों को खोजा जाता है, साथ ही जरूरी टीके बीसीजी, हेपेटाइटिस बी जीरोपेंटावेलेंट प्रथम, द्वितीय, तृतीय, आईपीवी सहित अन्य टीके लगाए जाते हैं| सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान का दूसरा चरण  6 जनवरी से शुरू होगा, जबकि तीसरा चरण 3 फरवरी व चौथा चरण  2 मार्च से  चलाया जाएगा|
 मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ विजय यादव ने कहा  कि मिशन इन्द्र धनुष अभियान 2. 0  के दूसरे चरण के लिए पांच ब्लॉक – नूरपुर , बिजनोर , हल्दौर , कोतवाली , नजीबाबाद में लक्ष्य निर्धारित कर लिए गए है  | अभियान से जुड़े प्रत्येक कर्मचारी को लक्ष्य के अनुरूप शत प्रतिशत उपलब्धि हासिल करने के निर्देश दिए गए है | उन्होंने कहा कि  अभियान में लापरवाही क्षम्य नहीं होगी”|

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ अशोक कुमार ने बताया “जिले के पांच  ब्लॉक में बीसीपीएम ,डव्लूएचओ ,यूनिसेफ व बीसीसीएम के सहयोग से कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है ,टीकाकरण से छूटे तीन माह ,पांच माह ,बारह माह व अठारह माह के बच्चो को चिन्हित कर लिया गया  है, दूसरे चरण में 8646 बच्चों तथा 2323 गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है.

No comments