Latest News

7वें आर्थिक सर्वेक्षण को डीएम ने दिखाई हरी झण्डी

350 गणनकार करेंगें कार्य

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने कलेक्ट्रेट परिसर से जनपद में 7वां आर्थिक सर्वेक्षण के कार्य का हरी झण्डी दिखाकर शुभारम्भ किया।
जिलाधिकारी ने कहा कि सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय भारत सरकार व सीएससी के संयुक्त तत्वावधान में 7वे आर्थिक सर्वेक्षण का कार्य सम्पन्न कराया जाना है। जिसका शुभारम्भ जनपद में किया गया है। पूर्व में राज्य स्तर पर इस योजना की शुरुआत मुख्यमंत्री ने किया है। उन्होने बताया कि अभी तक भारत वर्ष में 6 आर्थिक सर्वेक्षण हो चुके है। 7वें आर्थिक सर्वेक्षण का कार्य प्रारम्भ है। 7वें आर्थिक गणना का उददेश्य रोजगार के
सटीक आंकड़े एकत्रित करना, शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रो में श्रमिकों का सर्वेक्षण तथा औपचारिक एवं अनौपचारिक रोजगार क्षेत्रों में श्रमिकों की आर्थिक गतिविधियों को स्पष्ट करना है। उन्होंने बताया कि समस्त वीएलइ यानि सुपरवाइजरों को अपने अधीन प्रगणकों के माध्यम से ग्राम पंचायतो में आर्थिक सर्वेक्षण का कार्य मोबाइल एप्प के माध्यम से किया जाना है। मोबाइल एप्प सीएससी ई गवर्नेंस सर्विसेज इंलि द्वारा प्रदान किया जायेगा। उन्होने यह भी कहा कि आर्थिक गणना से प्राप्त क्वालिटी डाटा सरकार को नीति निर्माण में मदद करता है। इस गणना में कामन सर्विस सेन्टर ई-गवर्नेंस सर्विसेज इंलि की डिजिटल ताकत का बेहतर इस्तेमाल हो सकेगा, क्योंकि अब सर्वेक्षण करने वाली इकाई से ही डाटा डिजिटल स्वरूप में मिलना शुरू हो जायेगा। उन्होंने कहा कि उक्त कार्यशाला में आर्थिक सर्वेक्षण कैसे करना है। जिसकी जानकारी ट्रेनिंग वीडियोज व प्रोजेक्टर के माध्यम से पूर्व में ही आपलोगों को दी जा चुकी हैं। इस अवसर पर सीएससी जिला समन्वयक बदरूददीन खान ने बताया कि 7वें आर्थिक सर्वेक्षण का कार्य सीएससी ई गवर्नेंस सर्विसेज इंलि द्वारा अपने अधीन पंजीकृत डिजिटल सेवा केन्द्र संचालको के अन्तर्गत प्रशिक्षण प्राप्त प्रगणकों द्वारा हर ग्राम पंचायत व शहरी क्षेत्र में किया जायेगा। किसी को कोई समस्या आती है उसकी समस्या का निदान डिस्ट्रिक्ट टीम द्वारा की जायेगी। सीएससी जिला प्रबंधक अतुल कुमार व मनीष कुमार ने बताया कि जनपद में प्रशिक्षण प्राप्त 132 सुपरवाइजर के अन्तर्गत लगभग 350 गणनकार आर्थिक सर्वेक्षण का कार्य करेगें। इस मौके पर पूर्व प्रधान सहित गणनाकार भी मौके पर उपस्थित रहे। इस दौरान जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी राजेश कुमार सिंह यादव, अपर संख्याधिकारी महेन्द्र कुमार सहित आर्थिक सर्वेक्षण के एक सैकडा सुपरवाइजर व एनुमेनेटर उपस्थित रहे। 

No comments