31 मार्च तक निरूशुल्क बनवाएं गोल्डन कार्ड - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, January 4, 2020

31 मार्च तक निरूशुल्क बनवाएं गोल्डन कार्ड

शत प्रतिशत लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनाने के लिए अभियान शुरू   
असत्यापित परिवारों का भी पुनरू होगा सर्वे
बहेरी, बिसंडा, जसपुरा और अतर्रा सीएचसी भी योजना से जुड़े    
आयुष्मान भारत योजना 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । कमजोर वर्ग के परिवारों को पांच लाख रुपये तक का निशुल्क इलाज मुहैया कराने वाली आयुष्मान भारत योजना के तहत शत प्रतिशत लाभार्थियों का सत्यापन और उनके गोल्डन कार्ड बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने अभियान शुरू किया है। गांव-गांव में कैंप लगाए जा रहे हैं, ऐसे गांव जहां एक भी लाभार्थी का गोल्डन कार्ड नहीं बना है, उन्हें प्राथमिकता देकर कवर किया जा रहा है। इसके साथ ही असत्यापित परिवारों का पुनरू सर्वे कराकर उन्हें भी लाभ दिलाया जाएगा। 


कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ. आर एन प्रसाद ने बताया इससे पहले 3 सितम्बर से 30 नवम्बर 2019 तक गोल्डन कार्ड बनाने के लिए अभियान चलाया गया था जिसमें 34,000 से अधिक गोल्डन कार्ड बनाए गए थे। अब तक कुल 47 प्रतिशत लोगों के कार्ड बनाए जा चुके हैं। 53 प्रतिशत लाभार्थी ऐसे हैं जिन्होंने अब भी अपना गोल्डन कार्ड नहीं बनवाया है। इसलिए 1 जनवरी से पुनः अभियान चलाकर शत प्रतिशत लोगों को कवर करने का प्रयास किया जा रहा है। अभियान 31 मार्च तक चलेगा। इसके साथ ही 10 से 25 जनवरी तक आशा कार्यकर्ताओं के माध्यम से असत्यापित परिवारों का पुनः सर्वे कराकर सत्यापन किया जाएगा जिससे उन्हें भी योजना का लाभ मिल सके। इसके लिए शासन से पात्र लाभार्थियों की सूची मिलने वाली है।
जिला कार्यक्रम समन्वयक डा. धीरेन्द्र वर्मा ने बताया लाभार्थियों को अच्छी सुविधा मिले इसके लिए और भी अस्पतालों को योजना से जोड़ा जा रहा है। हाल ही में बहेरी, बिसंडा, जसपुरा और अतर्रा सीएचसी को योजना से जोड़ा गया है। सभी सूचीबद्ध अस्पतालों में सुविधाओं से लैस विशेष आयुष्मान वार्ड भी बनाए जा रहे हैं। जिला सूचना तंत्र प्रबंधक धर्मेन्द्र सिंह ने जानकारी दी कि जिले में पात्र लाभार्थियों की संख्या 1,38,581 है जिनमें से 65,225 के गोल्डन कार्ड बन चुके हैं व 1249 लाभार्थियों ने निशुल्क इलाज करवाया है। इनमें गंभीर मलेरिया, टाइफाइड, हैजा, पेचिस जैसे रोगों से लेकर ब्रेन ट्यूमर, रसौली, हड्डी, हाइड्रोसील, अस्थमा, हर्निया, कान के पर्दों के आपरेशन शामिल हैं। 

यहां प्रतिदिन बनाए जा रहे हैं गोल्डन कार्ड 

बांदा। जिला महिला एवं पुरुष चिकित्सालय, राजकीय मेडिकल कालेज, नरैनी, कमासिन और बबेरू सीएचसी, नवाब चैरिटेबल हास्पिटल तिंदवारा, कमला नर्सिंग होम अतर्रा में प्रतिदिन गोल्डन कार्ड बनाने की व्यवस्था की गयी है। 

यहां निर्धारित तिथियों पर लगेंगे कैंप 
सभी सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर

गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए ये दस्तावेज साथ लाएं

आधार कार्ड, राशन कार्ड व प्रधानमंत्री/मुख्यमंत्री का पत्र
गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए लाभार्थी का स्वयं उपस्थित होना जरूरी है  
अधिक जानकारी के लिए हेल्पलाइन नंबर 14555 या 1800111565 पर काल कर सकते हैं 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages