Latest News

शनि का मकर राशि में प्रवेश 24 जनवरी 2020

सौरमण्डल में शनि सबसे धीमी गति से चलने वाला ग्रह है शनि सूर्य की परिक्रमा लगभग 30 वर्ष में पूरी करता है।शनि एक राशि में ढाई वर्ष तक रहते है। शनि को ज्योतिष में कर्मफल दाता एवं दंडाधिकारी न्यायाधीश कहा गया है। शनि को मध्यम वर्ग, मजदूर वर्ग जनता का भी कारक माना जाता है। लोहा, जमीन से निकलने वाली वस्तुएं, खनिज, प्रापर्टी, तेल , चमड़ा आदि पर शनि का प्रभाव होता है। शनि सकारात्मक होने पर शुभ फल प्रदान करता है और प्रतिकूल होने पर जीवन में बहुत कष्ट देता है। 


शनि ग्रह का गोचर 24 जनवरी 2020 शुक्रवार दिन को 12रू10 बजे धनु राशि से मकर राशि मे हो रहा हैै मकर व कुंभ शनि की स्वराशि है तुला शनि की उच्च राशि है मेष शनि की नीच राशि है  इसके बाद शनि मकर राशि से 17 जनवरी 2023 को कुंभ राशि में गोचर करेगा। 11 मई 2020 से 29 सितंबर 2020 के बीच शनि वक्री स्थिति में मकर राशि में गोचर करेगा। कुंभ राशि पर शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव शुरू हो जाएगा और वृश्चिक राशि की साढ़ेसाती समाप्त हो जाएगी, धनु मकर व कुंभ राशि पर साढ़ेसाती रहेगी  मिथुन और तुला पर शनि की ढैय्या का प्रभाव शुरू हो जाएगा और कन्या और वृष राशि वालों को इस ढैय्या से छुटकारा मिलेगा  शनि का राशि परिवर्तन होता है तो प्रकृति के साथ- साथ मानव जीवन पर भी इसका अत्याधिक प्रभाव देखने को मिलता है। शनि के अशुभ प्रभाव से मानसिक तनाव, नौकरी व्यापार में बाधा, कानूनी समस्यायें, वाहन दुर्घटना, शत्रुओं से परेशानी वाद-विवाद, स्वास्थ्य की समस्याएं आदि होते है। शनि के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिये शनि मंत्रो का जाप , व्रत, काले उड़द काले तिल, सरसों का तेल, काला वस्त्र, काले चने, कोयला, लोहे का दान आदि से शनि की शान्ति होती है  सात मुखी रुद्राक्ष धारण करने से लाभ मिलता है ।

 शनि का मकर राशि में गोचर करने पर 12 राशियों पर प्रभाव ...

मेष राशि  शनि का गोचर आपके दसवें भाव में काफी शुभ है । अच्छी नौकरी प्रमोशन हो सकता है। अपनी माता और जीवनसाथी की सेहत का ख्याल रखना होगा।  जीवनसाथी के साथ वैचारिक मतभेद भी हो सकता है।
वृष राशि शनि का गोचर आपके नवें भाव में शुभ है भाग्य में वद्धि करेगा छोटे भाई बहनों के साथ विवाद हो
सकता है धार्मिक कार्यों में हिस्सा लेंगे। अटका काम पूरा हो जाएगा। 
मिथुन राशि शनि का गोचर आपके अष्टम भाव में अशुभ है। शनि की ढैय्या भी आरंभ हो जाएगी वाणी पर संयम रखना चाहिए। उच्च अधिकारियों के साथ मतभेद परिवार में मतभेद  हो सकता है। बच्चों की सेहत का ध्यान रखें। परेशानियों को बढ़ा सकता है
 कर्क राशि शनि का गोचर आपके सप्तम भाव में शुभ रहेगा। विवाह हो सकता है वैवाहिक जीवन में खुशिया  ेंनौकरी में परिवर्तन  कार्यक्षेत्र में लाभ
सिंह राशि शनि का गोचर आपके छठवें भाव में शुभ रहेगा शुत्र परास्त रोग ठीक हो जाएगा कोर्ट कचहरी में सफलता खर्चे बढ़ सकते हैं पराक्रम में वृद्धि विदेश यात्रा

कन्या राशि शनि का गोचर आपके पांचवें भाव में मध्यम शुभ रहेगा।  संतान सुख की प्राप्ति होगी। । विद्यार्थियों को लाभ मंदपंसद कॉलेज में एडमिशन वैवाहिक सुख में परेशानियों आय में भी कमीं हो सकती है।
तुला राशि शनि का गोचर आपके चैथे भाव में मध्यम रहेगा।  वाहन, भूमि और वाहन के सभी सुख प्राप्त होंगे। शनि की ढैय्या की शुरू हो जाएगी । कार्यक्षेत्र कोर्ट कचहरी में परेशानियों शत्रु बाधा
वृश्चिक राशि शनि का गोचर आपके तीसरे भाव में शुभ रहेगा। पराक्रम में वृद्धि भाग्य साथ देगा धार्मिक कार्य खर्च बढ़ सकते हैं शनि की साढेसाती समाप्त हो जाएगी
धनु राशि शनि का गोचर आपके दूसरे भाव में मध्यम रहेगा। धन में वृद्धि शनि की साढेसाती की आखिरी ढैय्या शुरु हो जाएगी। ससुराल पक्ष से परेशानि  माता का स्वास्थय खराब हो सकता है।
  मकर राशि शनि का गोचर आपके लग्न भाव में सामान्य ही रहेगा स्वास्थय ठीक रहेगा आलस्य की अधिकता  व्यापार, कार्यस्थल में परेशानियों जीवनसाथी के साथ भी झगड़ा
कुंभ राशि शनि का गोचर आपके बारहवें भाव में अशुभ ही रहेगा शनि की साढेसाती शुरू हो जाएगी। खर्च बढ़ सकते हैं परिवार में झगड़ा पुराना रोग शत्रुओं से  परेशानियां 
मीन राशि शनि का गोचर आपके ग्यारहवें भाव में शुभ रहेगा  सैलरी आय मान सम्मान बढ़ेगा। लव लाइफ में मतभेद शादीशुदा का ससुरालवालों से मतभेद 

- ज्योतिषाचार्य-एस.एस.नागपाल, स्वास्तिक ज्योतिष केन्द्र, अलीगंज, लखनऊ

No comments